इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2022: जाने कार्यान्वयन प्रक्रिया, पात्रता, लाभ वा विशेषताएं – Purijankari

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना आवेदन प्रक्रिया | Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana Online Registration | Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana Application Form | Indira Mahila Shakti Udyam Protsahan Yojana Application Status

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2022: केंद्र सरकार वा राज्य सरकारों के द्वारा देश में महिलाओ पर होने वाले कई तरह के उत्पीडनो के खिलाफ कई ऐसी योजनाओ को आरंभ किया जाता है, जिससे महिलाएं सशक्त वा आत्मनिर्भर बन कर अपने खिलाफ हो रहे उत्पीड़न का डट कर सामना कर सके। इन्ही योजनाओ में एक और योजना का नाम जुड़ने जा रहा है। जिसको राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा राज्य में रहने वाली महिलाओ के लिए आरंभ किया जा रहा है। जिसका नाम इंदिरा शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना है, इस योजना के माध्यम से राज्य में रहने वाली महिलाओ को अपना उद्यम स्थापित करने हेतु बैंको के माध्यम से ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा।

यदि आप भी राजस्थान राज्य से जुड़े है या आप इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना से जुडी समस्त प्रकार की जानकारियों के बारे में जानना चाहते है तो आपको हमारे द्वारा लिखे गए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए जिसमे हमने योजना का मुख्य उद्देश्य, योजना से होने वाले लाभ, योजना की विशेषताएं, योजना से जुड़े पात्र, महत्वपूर्ण दस्तावेज वा योजना में आवेदन प्रक्रिया के बारे में बताया है।

राजस्थान सरकार के द्वारा इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2022 को आरंभ किया गया है। जिसके माध्यम से राज्य में रहने वाली महिलाओ को विनिर्माण, सेवा एवं व्यापार आधारित उद्योगों के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। साथ ही नए स्थापित होने वाले उद्यमों के साथ पूर्व में स्थापित हुए उद्योगों के विस्तार, विवधिकरण आधुनिकरण इत्यादि के लिए भी ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। इस योजना का लाभ ना केवल राज्य में रहने वाली महिला उठा सकेगी बल्कि संस्था से जुडी महिलाएं भी उठा सकेगी जिनमे महिला स्वयं सहायता समूह/महिला स्वयं सहायता समूह के क्लस्टर आदि भी पात्र होंगे। इनके अलावा पात्र महिला फार्म या कंपनी बनाती है, तो वह भी इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

योजना का नामइंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना
किनके द्वारा आरंभ की गईराजस्थान राज्य सरकार के द्वारा
योजना का मुख्य उद्देश्यराज्य में रहने वाली महिलाओ को अपना उद्योग
स्थापित करने हेतु प्रोत्साहित करना
योजना से जुड़े लाभार्थीराज्य में रहने वाली महिलाएं
राज्यराजस्थान राज्य
साल2022
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटwcd.rajasthan.gov.in

राजस्था राज्य सरकार के द्वारा आरंभ की गई इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में रहने वाली महिलाओ को अपना उद्यम स्थापित करने हेतु ऋण उपलब्ध करवाना है। जिस पर सरकार के द्वारा उन्हें अनुदान मुहैया कराया जाएगा। इस योजना के माध्यम से राज्य में रहने वाली महिलाएं सशक्त वा आत्मनिर्भर बन कर अपने खिलाफ हो रहे उत्पीड़न का डट कर सामना कर सकेंगी। जिससे उनके जीवन स्तर में सुधर आएगा वा राज्य में बेरोजगारी की समस्याओ में भी कमी आएगी। वा महिलाओ के जीवन स्तर के भी काफी बदलाव देखने को मिलेंगे।

यह भी पढ़े:- मुख्यमंत्री राजश्री योजना

  • इस योजना के अंतर्गत ऋण की अधिकतम सीमा 1 करोड़ रुपए निर्धारित की गई है। जिसको बैंकों के द्वारा विनिर्माण, सेवा एवं व्यापार आधारित उद्योग की स्थापना, विस्तार वर्गीकरण एवं आधुनिकरण के लिए उपलब्ध करवाया जाएगा। वा स्वयं सहायता समूह के लिए 1 करोड़ रुपए तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। वही व्यक्तिगत आवेदन एवं स्वयं सहायता समूह के लिए 50 लाख रुपए तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विधवा, हिंसा से पीड़ित महिला, दिव्यांगजन आदि महिलाओं को 30% अनुदान प्रदान किया जाएगा। वा स्वीकृत ऋण राशि पर 25% ऋण अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • 15 लाख रुपए अनुदान की अधिकतम सीमा निर्धारित की गई है।
  • ऋण अनुदान के लिए आवेदक के स्वयं के योगदान की गणना की जाएगी।
  • वही भूमि का मूल्य इस योजना प्रस्ताव में शामिल नहीं किया जाएगा।
  • वही व्यापार के लिए ऋण की अधिकतम सीमा 10 लाख रुपए निर्धारित की गई है।
  • 10 लाख रूपए तक के ऋण पाने के लिए किसी भी तरह के कॉलेटरल सिक्योरिटी जमा करने की आवश्यकता नहीं है। 10 लाख रुपए से अधिक के ऋण को क्रेडिट ट्रस्ट फंड फॉर माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइज से जोड़ा जाएगा। जिसमें फीस की राशि का वहन लाभार्थी द्वारा किया जाएगा।
  • सिडबी।
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक।
  • राष्ट्रीयकृत वाणिज्यिक बैंक।
  • राजस्थान वित्त निगम।
  • भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्राधिकृत निजी क्षेत्र के अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक तथा अनुसूचित स्मॉल फाइनेंस बैंक।

यह भी पढ़े:- कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत आवेदनकर्ता को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए योजना कार्यान्वयन हेतु निर्धारित मार्गदर्शिका के अनुसार की जाएगी। इसके अलावा सरकार के द्वारा शिविर के भी आयोजन किये जाएंगे जिनके द्वारा योजना की जानकारी नागरिको तक पहुंचे जाएगी वा इच्छुक लाभार्थी नागरिको के आवेदन भी किये जाएंगे। साथ ही योजना की प्रक्रिया को सरल बनाने हेतु आवेदन प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया गया है।

साथ ही प्रत्येक जिला प्रत्येक जिला स्तरीय महिला अधिकारिता कार्यालय में ऋण पूर्ण ओरिएंटेशन, मेंटरिंग एवं इनक्यूबेशन तथा ऋण पश्चात मेंटरिंग, फॉलोअप की सुविधा विकसित की जाएगी। जिसके माध्यम से प्रत्येक जिला स्तरीय महिला अधिकारिता कार्यालय में एक एकमुश्त व्यय उपलब्ध करवाया जाएगा। इस योजना का कई तरह से प्रचार प्रसार भी किया जाएगा वा इन सभी कार्यो को करने के लिए कुल आवंटित बजट का 5% खर्च किया जाएगा।

यह भी पढ़े:- राज कौशल योजना

  • राजस्थान सरकार के द्वारा इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2022 को आरंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से महिलाओं को विनिर्माण, सेवा एवं व्यापार आधारित उद्योगों के लिए ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • साथ ही योजना के अंतर्गत नए स्थापित होने वाले उद्यमों के साथ-साथ पूर्व में स्थापित उद्योगों के विस्तार, विवधिकरण आधुनिकरण इत्यादि के लिए भी ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • यदि कोई महिला फर्म या कंपनी बनाती है, तो ऐसी स्थिति में वह भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगी।
  • इस योजना के द्वारा महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के भी प्रयास किये जाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत महिला स्वयं सहायता समूह/महिला स्वयं सहायता समूह के क्लस्टर वा व्यक्तिगत महिलाएं भी आवेदन कर सकेगी।
  • साथ ही इस योजना के माध्यम से महिलाओं के जीवन स्तर में भी सुधार देखने को मिलेगा।
  • इंदिरा शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना का कार्यान्वयन निदेशालय, महिला अधिकारिता के अधीन जिला स्तरीय महिला अधिकारिता कार्यालय के माध्यम से किया जाएगा।
  • निदेशालय, महिला अधिकारिता राज्य स्तर पर योजना के कार्यान्वयन एवं पर्यवेक्षण हेतु नोडल एजेंसी होगा।
  • लिए गए ऋण की राशि का उपयोग लाभार्थी केवल उसी कार्य को करने के लिए कर सकता है, जिसके लिए ऋण स्वीकृत किया गया है।
  • 10 लाख रूपय तक के प्रयोजना प्रस्ताव की 5% राशि का निवेश आवेदक को खुद करना होगा।
  • वही 10 लाख से अधिक के परियोजना प्रस्ताव की 10% राशि का निवेश आवेदक को खुद करना होगा।

यह भी पढ़े:- राजस्थान बेरोजगारी भत्ता ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

  • आवेदिका राजस्थान की स्थाई निवासी होनी चाहिए।
  • आवेदिका की न्यूनतम आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए।
  • महिला स्वयं सहायता समूह या इन समूह के राज्य सरकार के किसी विभाग के अंतर्गत दर्ज होना आवश्यक है, तथा समूह को क्लस्टर या फेडरेशन की स्थिति में उनको नियम अनुसार सहकारी अधिनियम के अंतर्गत पंजीकृत होना अनिवार्य है।
  • वह महिला जो महिला स्वयं सहायता समूह/क्लस्टर/फेडरेशन राज्य सरकार के किसी विभाग के दिशा निर्देश/नियम/विनियम/योजना के अंतर्गत गठित होना चाहिए।
  • आवेदिका की संस्था के सभी सदस्य राजस्थान राज्य के निवासी होने चाहिए।
  • इस योजना के तहत महिला स्वयं सहायता समूह/क्लस्टर/फेडरेशन को राज्य सरकार के किसी विभाग या बैंक द्वारा तसमय डिफॉल्टर घोषित नहीं किया गया हो।
  • संस्था के गठन को कम से कम 1 वर्ष हो गया हो तथा गठन को 1 वर्ष की अवधि के उपरांत भी न्यूनतम 1 वर्ष तक सक्रिय रूप से संचालित होना चाहिए। इस अवधि में बचत, पारंपरिक लेनदेन, ऋण इत्यादि का पर्याप्त रिकॉर्ड होना अनिवार्य है।
  • महिला स्वयं सहायता समूह के क्लस्टर या फेडरेशन नियम अनुसार सहकारिता अधिनियम के अंतर्गत पंजीकृत होने चाहिए।
  • महिला स्वयं सहायता समूह,/क्लस्टर/फेडरेशन से संबंधित समस्त सूचनाएं राज्य सरकार के पोर्टल पर उपलब्ध होनी चाहिए।

यह भी पढ़े:- Emitra राजस्थान

  • ऐसी आवेदिका जिनके परिवार का कोई भी सदस्य किसी अन्य केंद्रीय/राजकीय अनुदान कार्यक्रम योजना में विगत 5 वर्ष में लाभवंती हुआ हो।
  • ऐसी आवेदिका जिनके परिवार का कोई भी सदस्य किसी वित्तीय संस्था या बैंक का डिफॉल्टर या दोषी हो।
  • आवेदिका का निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदिका का आधार कार्ड
  • आवेदिका का आयु का प्रमाण
  • आवेदिका का आय प्रमाण पत्र
  • आवेदिका का ईमेल आईडी आदि।
  • आवेदिका का मोबाइल नंबर
  • आवेदिका का पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • लाभार्थी आवेदिका या संस्था को योजना के अंतर्गत विभाग के द्वारा निर्धारित ऑनलाइन पोर्टल पर संबंधित जिले के उप निर्देशक या सहायक निर्देशक महिला अधिकारिता को आवेदन करना होगा।
  • यदि आवेदिका 10 लाख रुपए तक का ऋण प्राप्त करना चाहती है तो आवेदिका के सभी दस्तावेज सही पाए जाने के पश्चात संबंधित बैंक शाखा में अग्रेषित कर दिया जाएगा।
  • यदि 10 लाख रुपए से अधिक का ऋण है तो ऐसी स्थिति में आवेदन पत्र की जांच करने के पश्चात कार्यान्वयन मार्गदर्शिका के बिंदु संख्या 1 अनुसार जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति का गठन किया जाएगा।
  • साथ ही बैंक शाखाओं के द्वारा भी अपने अनुसार जांच की जा सकती है।
  • योजना के अंतर्गत गठित की गई टास्क फोर्स द्वारा 10 लाख से ऊपर के ऋण के सभी दस्तावेजों की जांच करने के पश्चात बैंक को अग्रेषित कर दिया जाएगा।
  • साथ ही इन बातो का भी खास ध्यान रखा जाएगा कि सभी स्तर के उद्यमिय इस योजना का लाभ प्राप्त कर सके।
  • 10 लाख रूपय तक के प्रयोजना प्रस्ताव की 5% राशि का निवेश आवेदक को खुद करना होगा।
  • यदि ऋण राशि 10 लाख से अधिक है तो परियोजना प्रस्ताव की 10% राशि का निवेश आवेदक को खुद करना होगा।
  • बैंक द्वारा लाभार्थी के खाते में ऋण अनुदान को टर्म डिपॉजिट रिसिप्ट के रूप में 3 साल तक के लिए जमा किया जाएगा।

यदि आप भी राजस्थान राज्य के रहवासी है और इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया जानना चाहते है तो आपको निचे दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आवेदिका को महिला एवं बाल विकास विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा।
  • होम पेज पर ही आपको इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना का विकल्प दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक करना होगा।

  • क्लिक करते ही आपकी स्क्रीन पर एक आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा।
  • इस आवेदन फॉर्म में आवेदिका को पूँछी गई सभी जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के पश्चात आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपका इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत आवेदन पूर्ण हो जाएगा।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.