किसान की बेटी ने किया UPSC क्लियर: लगन और मेहनत से बिना कोचिंग जाए किसान की बेटी बनी IAS

अगर आपमें किसी चीज़ को पाने की लगन हो और उसके लिए आप दिन रात मेहनत करने के लिए तैयार हो तो ऐसी दुनिया में कोई चीज़ नहीं जिसको आप हासिल नहीं कर सकते हो। जी हां ऐसा ही एक एग्जाम है, UPSC EXAM जिसको क्लियर करने में अच्छे-अच्छे लोगो के पसीने छूट जाते है।

लेकिन कई लोग ऐसे होते है जो अपनी मेहनत और लगन से इस मुश्किल परीक्षा को बहुत ही आसानी से क्लियर कर लेते है, उन्ही में मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर में रहने वाली तपस्या परिहार का नाम भी आता है। जिन्होंने बिना कोचिंग गए ही 2017 में UPSC की परीक्षा पास कर 23वी रैंक हासिल की वा एक IAS ऑफिसर बन गई आइये जानते है उनके इस सफर के बारे में।

कौन है तपस्या परिहार?

किसान की बेटी ने किया UPSC क्लियर: लगन और मेहनत से बिना कोचिंग जाए किसान की बेटी बनी IAS

तपस्या परिहार मूलरूप से मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर की रहने वाली है, इनके पिता विश्वास परिहार मूल रूप से किसान है। इन्होने अपनी स्कूली शिक्षा केंद्रीय विद्यालय से पूरी की है। इसके बाद उन्होंने पुणे के इंडियन लॉ सोसयटी के लॉ कॉलेज से लॉ की अपनी पढाई पूरी की।

तपस्या परिहार को UPSC के पहले प्रयास में असफलता हाथ लगी लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और दूसरे प्रयास में कड़ी मेहनत करने का फैसला किया। साथ ही सेल्फ स्टडी करने का फैसला किया। तपस्या के द्वारा जब उन्होंने दूसरे प्रयास की पढाई शुरू की तब उनका लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा नोट्स बना कर एग्जाम पेपर हल करना था।

परिवार का मिला साथ

तपस्या ने जब अपने परिवार को यूपीएससी (UPSC) की तैयारी करने के बारे में बताया तो उनके परिवार ने उनका बिना किसी हिचकिचाहट के साथ उनका साथ दिया। उनके परिवार में उनके पिता विश्वास परिहार जो की मूल रूप से किसान है। उनके चाचा विनायक परिहार एक सामाजिक कार्यकर्ता है, जिनके द्वारा तपस्या को बहुत समर्थन मिला। दादी देवकुंवर परिहार नरसिंहपुर जिला पंचायत की अध्यक्ष  रह चुकी है।

अगर आप ऐसी ही और योजनाओ के बारे में जानना चाहते हैं तो पूरिजनकारी को बुकमार्क करना न भूले।

Leave a Comment