क्रिप्टो 2022 में भी छुएगा आसमान: इस साल घटेगी महंगाई, बढ़ेगी ब्याज दरे; सैलरी में होगी 10% की ग्रोथ – Purijankari

क्रिप्टो 2022 में भी छुएगा आसमान: इस साल याने 2022 में क्या-क्या अहम् बदलाव होने वाले है, इसको लेकर पिछले 2 हफ्तों में कई सारे एनालिसिस प्रकाशित हुए है। इकोनॉमिक्स के शोधकर्ताओं निक रॉतले, कारमैन आंग और डोरोते नेउफेल्ड ने IMF, गोल्डमैन सॉक्स, डेलॉयट, ब्लूमबर्ग, इकोनॉमिस्ट, फिच सॉल्यूशंस, मॉर्गन स्टेनली, फोर्ब्स, MIT, PWC, वुड मैकन्जी समेत 300 एजेंसियों की रिपोर्ट्स और विशेषज्ञों के ताजा इंटरव्यू का अध्ययन किया है।

जिसमे सबसे ज्यादा एजेंसियां और विशेषज्ञ दुनिया में जिन 10 ट्रेंड्स के उभरने या बने रहने पर 100% आश्वस्त हैं, वे इस प्रकार हैं, जिनमे महंगाई घटेगी, ऐसा कहने वाले 44 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त हैं, वही महामारी के संपूर्ण खात्मे को लेकर सबसे कम 6 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त हैं।

धीरे-धीरे कम होगी महंगाई; 44 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

कोरोनाकाल के दौरान करीब 150 से ज्यादा देशो में महंगाई सामान्य से ज्यादा रही है। विशेषज्ञो की माने तो अप्रैल माह के बाद इसमें राहत की उम्मीद है, साथ ही महंगाई बढ़ने की दर कम होने में 9 से 12 महीने लग जाएंगे। खाद्य महंगाई बढ़ने की दर तेजी से घटेगी, जबकि अन्य वस्तुओं की महंगाई दर धीरे-धीरे घटेगी।

यह भी जाने: बिटकॉइन क्या होता है? 

अप्रैल से बढ़ेंगी ब्याज दरे; 43 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

अमेरिका, ब्रिटेन सहित सभी प्रमुख देशों में कर्ज या बैंक में राशि जमा करने पर ब्याज बढ़ेगा। वित्तवर्ष 2022-23 की शुरुआत में ही अमेरिकी फेडरल रिजर्व, यूरोपियन सेंट्रल बैंक, बैंक ऑफ इंग्लैंड और पीपल्स बैंक ऑफ चाइना दरें बढ़ाने शुरू करेंगे, जिसका असर दुनियाभर में दिखेगा।

क्रिप्टो 2022 में भी छुएगा आसमान; 16 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

निवेश के लिए सबसे ज्यादा जोखिम वाली क्रिप्टो करेंसी में आगे भी तेजी बनी रह सकती है। ज्यादातर देश इसे सरकारी मान्यता से दूर ही रखेंगे, लेकिन इसमें होने वाला निवेश लगातार बढ़ सकता है, क्योंकि शेयर बाजार में निवेश करने वाले दुनिया के 99% लोग अभी तक इससे दूर हैं।

सैलरी में होगी की ग्रोथ; 15 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

अमेरिका और यूरोप जैसे शहरो में नौकरी छोड़ने का ट्रेंड लगातार बना हुआ है, जिस वजह से कंपनियों को अच्छे वर्कर्स के लिए पसंदीदा पैकेज देने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। ब्रिटेन-फ्रांस-जर्मनी-इटली जैसे देशों में इसकी शुरुआत हो चुकी है। कुशल कामगारों के वेतन में इस साल डबल डिजिट ग्रोथ हो सकती है।

तेजी से बढ़ेगा ‘वेब 3’ का प्रचलन; 12 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

‘वेब 3’ इंटरनेट के डी-सेंट्रलाइजेशन का स्वरूप है। देखा जाए तो अभी हम ‘वेब 2.0’ इस्तेमाल करते हैं। इसका पूरा कंट्रोल संबंधित टेक कंपनी के पास रहता है, जबकि ‘वेब 3’ ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से चलती है। जिसमे डेटा किसी एक सर्वर में नहीं होता। क्रिप्टो नेटवर्क भी इसी से चलता है।

युद्ध जैसे हालातो से विश्व प्रभावित होगा; 11 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

अमेरिका और ईरान में चली आ रही खींचतान और बढ़ेगी। दूसरी ओर, यूक्रेन में रूसी दखल यूरोप में युद्ध के हालात बनाएगा। यहां भी अमेरिका बनाम रूस का नया मोर्चा बन रहा है। इजरायल-ईरान में भी तकरार नहीं थमेगी। वहीं, ताइवान पर बढ़ता चीनी दबाव युद्ध का रूप ले सकता है।

शेयरों से रिटर्न हो सकता है पहले से कम; 9 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

देखा जाए तो साल 2021 शेयर बाजार से कमाई के नजरिए से सबसे बेहतर रहा है। दुनियाभर के बाजारों ने 20% से ज्यादा रिटर्न दिया है, लेकिन 2022-23 में शेयर बाजार से मिलने वाला रिटर्न सिंगल डिजिट में रह सकता है। बाजार में वॉलेटिलिटी बनी रहेगी, जैसी 2021 में रही थी।

ई-व्हीकल का बैनर ईयर, सस्ते विकल्प; 8 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

देखा जाए तो साल 2022-23 में ई-व्हीकल्स के सैकड़ों विकल्प बाजार में आएंगे। जिससे सीधे दो फायदे होंगे। पहला- कंपनियों पर ई-व्हीकल्स के दाम कम करने का दबाव बढ़ेगा। दूसरा- यूरोप के दो दर्जन देशों में पेट्रोल-डीजल से चलने वाले वाहन बंद करने के प्लान तैयार होंगे। जल्द ही डेडलाइन सामने आएंगी।

रेनसमवेयर अटैक तेज हो सकते हैं; 8 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

जिस तरह से दुनियाभर में काम का डिजिटलाइजेशन बढ़ा है, उससे साफ है कि बड़ी टेक कंपनियों की ग्रोथ लगातार बनी रह सकती है, लेकिन जिस तेजी से रेनसमवेयर अटैक बढ़ रहे हैं, उससे यह भी आशंका है कि साइबर सिक्योरिटी के मोर्चे पर दुनियाभर में चुनौतियां बढ़ सकती हैं।

अमीर देश कर सकते हैं कोरोना को खत्म; 6 विशेषज्ञ 100% आश्वस्त

यूरोप के अमीर देश महामारी के खात्मे के आखिरी चरण में होंगे। वहां वैक्सीन के बूस्टर डोज और नई दवाओं की वजह से कोरोना से होने वाली मौतों को लगभग शून्य करने में मदद मिलेगी। वही मध्यम आय और कम आय वाले देशों में कोरोना से मौतों का खतरा बना रहेगा।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.