चुनावी धांधली करने वाले हो जाओ सावधान, क्योकि वोटर्स के हाथ में आ गया हैं cVIGIL ऐप

हर बार हम कही न कही चुनाव में वोटिंग के टाइम धांधली की खबरे सुनते हैं लेकिन अब वोटर्स के हाथो में आ गयी हैं एक आप्लिकेशन जिसका नाम हैं सी-विजिल (cVIGIL) ऐप। फोटो-वीडियो की मदद से वोटर्स चुनाव के टाइम पर होने वाली गड़बड़ियों  को रोक पाएंगे। चुनाव आयोग ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये इस आप्लिकेशन के बारे में बताया हैं। उन्होंने कहा की चुनाव के दौरान लोग सी-विजिल (cVIGIL) ऐप का इस्तेमाल करें और चुनाव के अंतर्गत कही पर धांधली हो रही हैं तो इस एप्लीकेशन के जरिये शिकायत करें इसके बाद चुनाव आयोग 100 मिनट के अंदर एक्शन लेगा। बता दे की इस एप्लीकेशन को चुनाव आयोग ने 3 साल पहले 2019 लॉन्च किया था।

cVIGIL ऐप क्या है?

सी-विजिल ऐप को आयोग ने चुनाव के वक्त होने वाली गड़बड़ियों को रोकने ले लिए लांच किया हैं। इसकी मदद से वोटर्स चुनाव आयोग को सूचित कर सकते हैं अगर उनके झेत्र में चुनावी गड़बड़ी हो रही हैं। इस आप्लिकेशन के माध्यम से वोटर्स चुनावी आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी दे सकते। यह एप्लीकेशन एंड्राइड एवं ios  यूजर्स के लिए उपलब्ध हैं।

सी-विजिल ऐप के माध्यम से कैसे करें शिकायत?

अगर आप इस एप्लीकेशन के जरिये शकायत दर्ज करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले इस एप्लीकेशन को अपने मोबाइल में इनस्टॉल करना होगा। हम आपको बता दे की इस यह एप्लीकेशन कैमरा और GPS एक्सेस मांगता हैं जिसे आपको ऑन करना हैं। एप्लीकेशन इनस्टॉल होने के बाद आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा। रजिस्ट्रेशन करने के लिए शिकायतकर्ता को नाम, पता, राज्य, जिला, विधानसभा और पिनकोड की जानकारी देना होगी। एक OTP की मदद से इसका वैरिफिकेशन किया जाएगा। अब आप फोटो या वीडियो के माध्यम से शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

हम आपको बता दे की आप इस अप्प से 2 मिनट तक का वीडियो अपलोड कर सकते हैं। अपलोड होने के बाद आप डिटेल बॉक्स में सारी जानकारिया लिख सकते हैं। आपकी शिकायत दर्ज होने के बाद आपको एक यूनिक आईडी मिलेगी। इसके जरिए वे मोबाइल पर ही फॉलोअप ट्रैक कर सकते हैं।  सबसे अच्छी बात यह है की इस पूरी प्रोसेस में शिकायत करने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाती है।

अगर आप ऐसी ही और योजनाओ के बारे में जानना चाहते हैं तो पूरिजनकारी को बुकमार्क करना न भूले।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.