मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना 2022: रजिस्ट्रेशन, ऑनलाइन आवेदन, लाभार्थी सूची – Purijankari

मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल जी के द्वारा मंजूरी दे दी गई है जो की मुख्यमंत्री जी ने डिजिटल प्रेस के माध्यम से दी। घर-घर राशन योजना के अंतर्गत दिल्ली के लोगो को राशन उनके घर पर पहुंचाया जाएगा जिससे की लोगो को बहार जाने की जरुरत ना पड़े। यह एक बहुत हे महत्तवपूर्ण कदम है दिल्ली के सर्कार की तरफ से दिल्ली के लोगो के लिए और इसकी वजह से लोगो को काफी रहत भी मिल पाएगी।

तो अगर आप दिल्ली के रहवासी है और इस योजना से सम्बंधित पूरी जानकारी चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े आपको मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना 2022 से सम्बंधित पूरी जानकारी प्रप्थ हो जाएगी। और फिर भी आपको योजना से सम्बंधित को प्रशन हो तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते है।

प्रेस में मुख्यमंत्री द्वारा यह भी कहा गया की जो लोग राशन की दुकानों में जा कर सामान लेना चाहते है तो उन्हें यह विकल्प भी दिया जाएगा साथ में हे जिनको समन को घर पर डिलीवर करवाना हो तो वह यह विकल्प चुन कर सामान सीधा अपने घर पर डिलीवर करवा सकते है।

तो इस योजना के माध्यम से सरकार यह सुनुश्चित कर पाएगी की राशन के दुकानों के बहार जो लम्बी लम्बू कतरे लगती है वह कम हो सके, लोगो को इससे सुविधा के साथ साथ बहुत हे रहत भी मिलेगी कोरोना महामारी से, जैसा की सब जानते है महामारी की वजह से सरकार लोगो को अपने घर से काम बहार निकलने की सुझाव दे रही है। और ज्यादा तर लोग बहार राशन लेने जरूर निकलते है और राशन के बिना तो जिया जा नहीं सकता तो इस वजह से लोगो को भी बहार निकलना हे पढ़ता है।

तो वही Mukhyamantri Ghar Ghar Ration योजना की मदद से लोगो को घर के बहार नहीं निकलना पड़ेगा जिससे की वह आराम से अपना जीवन व्यापन कर सकते है।

प्रेस में मुख्यमंत्री ने कहा की सरकार FCCI के गोडाउन से राशन उठवाकर दिल्ली के लोगो तक पहुंचाया जाएगा और लोगो को गेहू की झग आता पहुंचाया जाएगा जिससे की लोगो को बहार निकलने की डीकत न हो।

जिस तेज़ी से महामारी फ़ैल रही है सरकार काफी चिंतित है और लोगो से आग्रह कर रही है की काम से काम घरो से बहार निकले ताकि महामारी को काम किया जा सके तो यही उद्देश्य के साथ सरकार इस योजना का सुबह आरम्भ करने जा रही है 25 मार्च 2021 को ताकि गरीब लोगो को सहायता मिल सके और वे लोग महामारी के चपेट दूर रहे।

सर्वप्रथम दिल्ली घर घर योजना का शुभारंभ सीमापुरी सर्किल के 100 घरों में डिलीवरी करवा कर किया जाएगा और फिर 1 अप्रैल 2021 से बाकि सर्कलो में शुरुआत की जाएगी राशन की होम डिलीवरी की। यह योजना इसलिए भी बहुत महत्वपूर्ण है क्युकी इससे राजधानी में राशन की कालाबाजारी को रोकने में तथा राशन माफिया का अंत करने में सहायता प्राप्त होगी।

और सरकार जिन पैकेटो में राशन की पैकिंग करेगी उसके ऊपर एक्सपायरी डेट भी लिखी होगी जिससे की सरकार लोगो को अच्छी गुणवत्ता के राशन हे पहुंचाए और लोगो को इससे किसी भी प्रकार की दिक्कते न हो और लोगो को राशन में आता दिया जाएगा और घी को पिसवाने का खर्च भी सरकार द्वारा हे वहन किया जाएगा।

इस योजना में सरकार ने बुजुर्गो और महिलाओ को प्राथमिकता देते हुए अधिकारियो को कहा है की राशन का वितरण राशन को नज़र में रखते हुए किया जाए और इस चरण में पहले बुजुर्गो तक राशन पहुंचाया जाएगा जिनको राशन की दुकानों तक जाने में काफी दिक्कत होती है। इसके बाद उन अकेली महिलाओ को भी प्राथमिकता दी गए है जो अकेली है और उन्हें भी राशन लेने जाने में दिक्कत होती है। और सर्कार ने जो अनुमान बताया है उस हिसाब से 70 विधानसभाओं के 17 लाख लोगों को लाभ पहुंचेगा तो अगर आप भी सेवा का लाभ लेना चाहते है तो आपको आवेदन करना होगा साडी जानकारियों के साथ।

मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजनामुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना
किसके द्वारा सुरु किया गयाअरविन्द केजरीवाल (मुख्यमंत्री)
उद्देश्यलोग को घर पर ही राशन मुहैया कराना
लाभार्थीराज्य के गरीब लोग

केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी ‘वन नेशन वन राशन कार्ड‘ योजना राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के राशन कार्ड धारकों को किसी भी ePoS से सब्सिडी वाले खाद्यान्नों के उनके योग्य कोटा को उठाने के लिए सक्षम करने के लिए लागू की गई है, मौजूदा का उपयोग करके, देश में कहीं भी अपनी पसंद के FPS सक्षम किए गए। / ePoS डिवाइस पर आधार प्रमाणीकरण के बाद एक ही राशन कार्ड।

यह सुविधा अब तक 20 राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों, अर्थात् आंध्र प्रदेश, बिहार, दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, केरल, ओडिशा, सिक्किम, मिजोरम, कर्नाटक, मध्य में सक्षम है। उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब, तेलंगाना, त्रिपुरा और उत्तर प्रदेश।

डोर- टू-लेबर राशन स्कीम उन लोगों के लिए जिनके राशन कार्ड बने हैं। वे लोग जो सरकारी राशन की दुकान (पीडीएस) पर जाते हैं और राशन लेते हैं, वे इसका लाभ उठा सकेंगे।

अब तक राशन की दुकानों पर राशन के लिए लाइन लगानी पड़ती थी। दिल्ली सरकार की मुख्यमंत्री घर घर राशन योजना के बाद अब राशन की होम डिलीवरी होगी। इसमें राशन कार्ड पर दिए गए पते पर राशन पहुंचाया जाएगा। दिल्ली सरकार इसकी व्यवस्था करेगी।

देखिए, दिल्ली सरकार ने इस विकल्प को खुला रखा है। अगर लोग घर बैठे राशन की डिलीवरी लेना चाहते हैं, नहीं तो अब तक ऐसा होता रहा है। दुकान पर जाएं और राशन लें।

अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि स्कीम को समझाते हुए गेहूं को FCI के गोदाम से उठाया जाएगा। उसे चक्की और मैदान में ले जाया जाएगा। फिर आटा, चीनी और चावल के पैकेट बनाए जाएंगे और लोगों के घरों तक पहुँचाए जाएंगे। यह समझने योग्य है कि होम-डिलीवरी में आपको मैश किया हुआ आटा मिलेगा और दुकान से गेहूं उपलब्ध होगा।

नहीं ऐसी बात नहीं है। सीएम केजरीवाल ने कहा है कि इस योजना को अभी मंजूरी मिली है। आवेदन करने में 6-7 महीने लगेंगे।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उसी दिन से इस योजना को लागू किया जाएगा, वन सरकार, वन नेशन, वन राशन कार्ड की योजना भी दिल्ली में लागू की जाएगी। पूरे देश में केवल एक राशन कार्ड होगा। फिर दूसरे राज्य का राशन कार्ड दिल्ली में मान्य होगा।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.