मुख्यमंत्री राजश्री योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, लाभ विशेषताएं वा पात्रता – Purijankari

मुख्यमंत्री राजश्री योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | Mukhyamantri Rajshri Yojana Application Form PDF | मुख्यमंत्री राजश्री योजना ऑनलाइन अप्लाई | Mukhyamantri Rajshri Yojana Application Status

मुख्यमंत्री राजश्री योजना 2022: केंद्र सरकार वा राज्य सरकारों के द्वारा बालिकाओ के उत्थान के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओ संचालन किया जाता है, जिनका मुख्य उद्देश्य समाज में बालिकाओ के प्रति सकारात्मक सोच को बढ़ावा देना होता है। ऐसी ही एक और योजना को राजस्थान सरकार के द्वारा आरंभ किया गया है, जिसका नाम मुख्यमंत्री राजश्री योजना है। राजस्थान सरकार का योजना लागू करने के पीछे का उद्देश्य समाज में बालिकाओ के प्रति सकारात्मकता को बढ़ावा देना है।

इस लेख में हमारे द्वारा मुख्यमंत्री राजश्री योजना से जुडी समस्त जानकारी को बताया गया है। यदि आप भी योजना से जुडी पूरी जानकारी जानना चाहते है, तो आपको हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा। जिसमे हमने योजना से होने वाले लाभ, विशेषताएं, योजना का मुख्य उद्देश्य, पात्रता, योजना में उपयोग होने वाले महत्वपूर्ण दस्तावेज वा आवेदन प्रक्रिया के बारे में बताया है।

मुख्यमंत्री राजश्री योजना को राजस्थान सरकार के द्वारा वर्ष 2016-17 में आरंभ किया गया था। इस योजना को आरंभ करने के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य समाज में बेटियों के प्रति नकारात्मकता सोच को ख़त्म करके सकारात्मक सोच को विकसित करना है। साथ ही योजना के माध्यम से बेटियों के स्वस्थ वा शैक्षणिक स्तर में सुधार भी किया जाना है।

1 जून 2016 या उसके बाद जन्म लेने वाली बेटिया इस योजना का लाभ उठा सकेंगी। जिनको आर्थिक सहायता के रूप में सरकार की और से 50000 रूपए की सहायता दी जाएगी। सहायता राशि बेटियों को 6 किस्तों में प्रदान की जाएगी। साथ ही योजना के माध्यम से आर्थिक सहायता को बेटी के विभिन्न कक्षाओं में प्रवेश लेने पर प्रदान की जाएगी। जिससे प्रदेश में रहने वाले नागरिक अपनी बेटियों को शिक्षित करने के लिए प्रोत्साहित हो। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से समाज में बेटियों को समानता का अधिकार भी मिलेगा।

योजना का नाममुख्यमंत्री राजश्री योजना
किनके द्वारा आरंभ की गईराजस्थान सरकार के द्वारा
योजना का मुख्य उद्देश्यबेटियों के प्रति समाज में सकारत्मक सोच विकसित करना
योजना से जुड़े लाभार्थीराजस्थान राज्य के नागरिक
वर्ष2022
राज्यराजस्थान
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटwcd.rajasthan.gov.in

राजस्थान सरकार के द्वारा लागू की गई मुख्यमंत्री राजश्री योजना का मुख्य उद्देश्य समाज में बेटियों के प्रति नकारात्मक सोच को बदल कर सकारात्मक सोच में विकसित करना है। जिससे बेटियों का सम्पूर्ण विकास हो सके। साथ ही इस योजन के द्वारा बेटियों के लालन-पालन, शिक्षण वा स्वास्थ्य के मामलो में होने वाले लिंग भेद को भी रोका जा सकेगा। इसके अलावा योजना संस्थागत प्रवासो को बढ़ावा देकर मातृ मृत्यु दरों में भी कमी लाने में कारगर साबित होगी। साथ ही बालिका शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी वा लिंगानुपात में सुधार किया जा सकेगा। राजश्री योजना बेटियों के विद्यालयों में नामांकन एवं ठहराव भी सुनिश्चित करेंगी वा बेटियों को समाज में समानता का अधिकार भी प्रदान करेगी।

यह भी पढ़े:- Jan Aadhar Card, जन आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करे,

सहायता राशि प्रदान किए जाने का समयसहायता राशि
बेटी के जन्म के समय2500 रुपए सहायता राशि
बेटी के 1 वर्ष के टीकाकरण पर2500 रुपए सहायता राशि
बेटी के पहली कक्षा में प्रवेश लेने पर4000 रुपए सहायता राशि
बेटी के छठी कक्षा में प्रवेश लेने पर5000 रुपए सहायता राशि
बेटी के दसवीं कक्षा में प्रवेश लेने पर11000 रुपए सहायता राशि
बेटी के 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर25000 रुपए सहायता राशि
  • मुख्यमंत्री राजश्री योजना का आरंभ राजस्थान सरकार के द्वारा वर्ष 2016-17 में किया गया है।
  • राज्य सरकार का उद्देश्य बेटियों के प्रति समाज में फैली नकारात्मकता सोच को सकारात्मक सोच में विकसित करने का प्रयास करना है।
  • साथ ही योजना के माध्यम से बेटियों के स्वास्थ्य वा शैक्षणिक स्तर में भी सुधार किया जाएगा।
  • 1 जून 2016 या उसके बाद जन्म लेने वाली बेटिया इस योजना का लाभ उठा सकेंगी।
  • बेटियों को योजना के अंतर्गत सरकार की और से 50000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • आर्थिक सहायता को सरकार के द्वारा 6 किस्तों में बेटियों को प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से बेटियों के समग्र विकास करने में सहायता मिलेगी।
  • सहायता राशि बेटियों के विभिन्न कक्षाओं में प्रवेश लेने पर प्रदान की जाएगी।
  • प्रदेश में रहने वाले नागरिक अपनी बेटियों को शिक्षित करने के लिए प्रोत्साहित होंगे।
  • इसके अलावा इस योजना के माध्यम से समाज में बेटियों को समानता का अधिकार भी मिलेगा।

यह भी पढ़े:- Rajasthan Scholarship Scheme

  • बेटी के जन्म के समय एक यूनिक आईडी नंबर प्रदान किया जाएगा।
  • माता-पिता को योजना के अंतर्गत पहली वा दूसरी क़िस्त के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • टीकाकरण के प्रमाण के रूप में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मातृ शिशु स्वास्थ्य कार्य या ममता कार्ड अपलोड करने के पश्चात द्वितीय किस्त प्रदान की जाएगी।
  • चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के द्वारा बेटी की आयु 1 वर्ष पूर्ण होने के पश्चात टीकाकरण की सुनिश्चित ऑनलाइन करने के उपरांत लाभ की राशि माता-पिता या फिर अभिभावक के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
  • पहली वा दूसरी किस्त का लाभ बेटी को वर्तमान में संचालित शुभ लक्ष्मी योजना के अनुसार चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • तीसरी किस्त की राशि बेटी के प्रथम कक्षा में प्रवेश लेने के पश्चात प्रदान की जाएगी। तीसरी क़िस्त प्राप्त करने के लिए माता-पिता के द्वारा ऑनलाइन आवेदन ईमित्र या अटल सेवा केंद्र या अन्य उपलब्ध विकल्पों के माध्यम से किया जाएगा।
  • ऑनलाइन आवेदन करने के साथ मातृ शिशु सुरक्षा कार्ड की प्रति, विद्यालय में प्रवेश का प्रमाण पत्र, दो संतानों संबंधित सब घोषणा की प्रति को भी अपलोड करना अनिवार्य किया गया है।
  • कार्यक्रम अधिकारी के द्वारा ऑनलाइन सभी प्राप्त हुई ऑनलाइन आवेदनों को स्वीकृति दी जाएगी।
  • लाभार्थी को आर्थिक सहायता राशि बैंक अकाउंट के माध्यम से अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी।
  • योजना के अंतर्गत चौथी, पांचवी वा छठी क़िस्त प्राप्त करने के लिए निर्धारित प्रारूप में आवेदन करना अनिवार्य है।
  • आवेदन करने के साथ साथ विद्यालय में प्रवेश के प्रमाण पत्र की प्रति भी अपलोड करना अनिवार्य है।
  • जब बेटी कक्षा 12 उत्तीर्ण कर लेगी तब अंत तालिका की प्रति भी आवेदन के साथ अपलोड करने अनिवार्य होगी।
  • महिला एवं बाल विकास विभाग मुख्यमंत्री राजश्री योजना का प्रशासनिक विभाग होगा।
  • जिला कलेक्टर के द्वारा इस योजना की समीक्षा संबंधी प्रत्येक माह में एक बार की जाएगी।
  • राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर दिशा निर्देश जारी किए जाएंगे योजना के सफल संचालन के लिए एवं दिशानिर्देशों में संशोधन किया जाएगा।
  • राजस्थान मुख्यमंत्री राजश्री योजना का लाभ वह सभी बेटिया उठा सकेंगी जिनका जन्म 1 जून 2016 या फिर इसके पश्चात हुआ है।
  • लाभार्थी के माता-पिता का भामाशाह कार्ड व आधार कार्ड होना चाहिए, पहली क़िस्त के समय माता-पिता के पास भामाशाह कार्ड वा आधार कार्ड नहीं पाया गया तो ऐसी स्थिति में पहली क़िस्त संस्थागत प्रसव के आधार पर प्रदान कर दी जाएगी। लेकिन दूसरी क़िस्त प्राप्त करने हेतु आधार एवं भामाशाह कार्ड की प्रति उपलब्ध करवाना आवश्यक है।
  • इस योजना का लाभ राजस्थान में रहने वाले मूल निवासी ही उठा सकेंगे ऐसी सभी प्रसूति जिनका संस्थागत प्रसव राज्य के बाहर हुआ है एवं जननी सुरक्षा योजना का परिलाभ प्राप्त किया है तब उन्हें बाटी के जीवित जन्म का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य है। इस स्थिति में इस योजना का लाभ मूल निवासी क्षेत्राधिकार वाले राजकीय चिकित्सा संस्थान से देय होगा। दूसरे राज्य की प्रसूता इस योजना का लाभ नहीं उठा सकेगी।
  • पहली वा दूसरी क़िस्त का लाभ संस्थागत प्रसव के जन्म लेने वाली बालिकाओं को प्रदान किया जाएगा।
  • वही तीसरी वा पश्चातवर्ती किस्तों का लाभ एक परिवार में अधिकतम दो जीवित संस्थानों तक ही सीमित होगा।
  • साथ ही पहली दो किस्तों के अतिरिक्त अन्य किस्तों का लाभ केवल उन्हीं बेटियों को प्रदान किया जाएगा जिनके परिवार में जीवित संस्थानों की संख्या 2 से अधिक नहीं होगी।
  • यदि माता-पिता की ऐसी पुत्री की मृत्यु हो जाती है जिसे एक या दो किस्त का लाभ प्राप्त हो चुका है तब ऐसे माता-पिता की कुल जीवित संतानों में से मृत पुत्री की संख्या कम हो जाएगी एवं ऐसे माता-पिता को यदि एक पुत्री और जन्म लेती है तो वह लाभ की पात्र होगी।
  • प्रथम किस्त का लाभ प्राप्त करने के लिए राजकीय एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा संस्थागत प्रसव हेतु अधिकृत निजी चिकित्सा संस्थानों में प्रस्ताव से जन्म लेना आवश्यक होगा।
  • दूसरी किस्त का लाभ प्राप्त करने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मातृ शिशु स्वास्थ्य कार्ड या ममता कार्ड के अनुसार सभी टीका लगवाने के आधार पर प्रदान की जाएगी।
  • पहली क़िस्त लाभांतित बेटियों को समेकित बाल विकास सेवा के द्वारा आंगनवाड़ी केंद्र से जोड़ने का प्रयास भी किया जाएगा।
  • योजना की अगली क़िस्त तब ही प्रदान की जाएगी जब लाभार्थी द्वारा पूर्व में अन्य किस्तों की राशि प्राप्त की गई हो।
  • बेटियों को इस योजना का लाभ केवल तभी प्रदान किया जाएगा जब वह राज्य सरकार द्वारा संचालित शिक्षण संस्थानों में प्रत्येक चरण में शिक्षारत होंगी।

यह भी पढ़े:- Bhamashah Yojana, Card Download, Status

  • बेटी के माता-पिता का आधार कार्ड
  • बेटी के माता पिता का भामाशाह कार्ड
  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • बेटी का आधार कार्ड
  • ममता कार्ड
  • मातृ शिशु स्वास्थ्य कार्ड
  • दो संतानों संबंधित स्व घोषणा पत्र
  • विद्यालय में प्रवेश का प्रमाण पत्र
  • 12वीं कक्षा की अंक तालिका
  • ईमेल आईडी
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ आदि
  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को जन सुचना पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • वेबसाइट पर आप होम पेज पर पहुंच जाएंगे।
  • होम पर पर ही आपको योजनाओ की जानकारी का विकल्प दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक करना होगा।

  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जहा आपको विभाग में वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट डिपार्टमेंट का चयन करना होगा।
  • यहाँ आपको एलिजिबिलिटी स्कीम में चीफ मिनिस्टर राजश्री योजना के विकल्प का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप इन विकल्प का चयन करेंगे पात्रता से संबंधित जानकारी आपकी स्क्रीन पर खुल कर आ जाएगी।
  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को अपने नजदीकी ई-मित्र या अटल सेवा केंद्र आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • यहाँ आपको ई-मित्र या अटल सेवा केंद्र में आवेदन से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करनी होगी।
  • आपके द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार संचालक द्वारा आपका फॉर्म भरा जाएगा।
  • साथ ही सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को भी संचालक द्वारा अपलोड किया जाएगा।
  • आवेदन पत्र को सबमिट करने के पश्चात आपको एक रिफरेंस नंबर प्रदान किया जाएगा।
  • आप अपने आवेदन की स्थिति इस रेफरेंस नंबर के माध्यम से ट्रैक कर सकेंगे।
  • मुख्यमंत्री राजश्री योजना के अंतर्गत इस प्रकार आप आवेदन कर सकेंगे।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.