भवानी प्रसाद मिश्र का जीवन परिचय | Bhavani Prasad Mishra ka Jeevan Parichay

इस ब्लॉग पोस्ट में हम जानेंगे हिंदी साहित्य के एक प्रमुख कवि(Bhavani Prasad Mishra ka Jeevan Parichay), गद्य लेखक और गीतकार भवानी प्रसाद मिश्र के बारे में। भवानी प्रसाद मिश्र हिंदी साहित्य के एक युगदृष्टा कवि थे। उनकी कविताएँ प्रकृति, प्रेम, सामाजिक समस्याओं और आध्यात्मिकता आदि विषयों पर आधारित हैं। उनकी कविताओं में प्रकृति का चित्रण अत्यंत सजीव और मार्मिक है। उन्होंने सामाजिक समस्याओं को भी अपनी कविताओं में बड़ी सूक्ष्मता से चित्रित किया है। उनकी कविताएँ आध्यात्मिकता से भी ओत-प्रोत हैं। उनकी कविताएँ सरल, सहज और प्रभावी भाषा में लिखी गई हैं।

जीवन परिचय (Bhavani Prasad Mishra ka Jeevan Parichay)

भवानी प्रसाद मिश्र का जन्म 29 मार्च, 1913 को मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले के टिगरिया गाँव में हुआ था। उनके पिता का नाम श्री सीताराम मिश्र और माता का नाम श्रीमती रामप्यारी देवी था। भवानी प्रसाद मिश्र की प्रारंभिक शिक्षा टिगरिया, सोहागपुर, होशंगाबाद, नरसिंहपुर और जबलपुर में हुई। 1934-35 में उन्होंने हिन्दी, अंग्रेजी और संस्कृत विषय लेकर बी०ए० पास किया।

भवानी प्रसाद मिश्र(Bhavani Prasad Mishra ka Jeevan Parichay) का साहित्यिक जीवन प्रारंभिक काल से ही शुरू हो गया था। उन्होंने 1935 में ही अपनी पहली कविता “पहला पन्ना” प्रकाशित की। 1940 में उनकी पहली कविता-संग्रह “ये कोहरे मेरे हैं” प्रकाशित हुई। इसके बाद उन्होंने “त्रिकाल सन्ध्या”, “तुस की आग”, “कुछ नीति कुछ राजनीति”, “इडां न मम”, “गीतफ़रोश”, “बनी हुई रस्सी” आदि काव्य-संग्रह प्रकाशित किए। उनकी कविताएँ प्रकृति, प्रेम, सामाजिक समस्याओं और आध्यात्मिकता आदि विषयों पर आधारित हैं।

भवानी प्रसाद मिश्र एक गद्य लेखक भी थे। उन्होंने “काठपुतली”, “सपने का घर”, “आँसू की धार”, “सड़क पर”, “दृश्य”, “अंधकार में” आदि कहानी-संग्रह प्रकाशित किए। उनकी कहानियाँ ग्रामीण जीवन, सामाजिक समस्याओं और मानवीय मनोविज्ञान आदि पर आधारित हैं।

भवानी प्रसाद मिश्र एक प्रसिद्ध गीतकार भी थे। उन्होंने “चलो सूर्योदय तुम आओगी”, “विदेश विदेश”, “तुम जाओगे तो मैं क्या करूँगी”, “मैं हूँ गीतों का गीतकार” आदि प्रसिद्ध गीत लिखे हैं।

साहित्यिक योगदान

भवानी प्रसाद मिश्र हिंदी साहित्य के एक प्रमुख कवि, गद्य लेखक और गीतकार थे। उनकी रचनाएँ आज भी पाठकों में उतनी ही लोकप्रिय हैं जितनी कि उनके जीवनकाल में थीं। उनकी कविताओं की प्रमुख विशेषताएँ निम्नलिखित हैं:

  • प्रकृति चित्रण: भवानी प्रसाद मिश्र प्रकृति के अत्यंत सुंदर और सजीव चित्रण के लिए जाने जाते हैं। उनकी कविताओं में प्रकृति का सौंदर्य देखते ही बनता है।
  • सामाजिक चेतना: भवानी प्रसाद मिश्र सामाजिक चेतना के कवि भी थे। उन्होंने अपनी कविताओं में सामाजिक समस्याओं को बड़ी सूक्ष्मता से चित्रित किया है।
  • आध्यात्मिकता: भवानी प्रसाद मिश्र आध्यात्मिकता से भी ओत-प्रोत कवि थे। उनकी कविताओं में ईश्वर, आत्मा और परमात्मा का विचार प्रमुख रूप से मिलता है।

भवानी प्रसाद मिश्र की प्रमुख रचनाएँ

  • कविता-संग्रह
    • ये कोहरे मेरे हैं
    • त्रिकाल सन्ध्या
    • तुस की आग
    • कुछ नीति कुछ राजनीति
    • इडां न मम
    • गीतफ़रोश
    • बनी हुई रस्सी
  • कहानी-संग्रह
    • काठपुतली
    • सपने का घर
    • आँसू की धार
    • सड़क पर
    • दृश्य
    • अंधकार में
  • गीत
    • चलो सूर्योदय तुम आओगी
    • विदेश विदेश
    • तुम जाओगे तो मैं क्या करूँगी
    • मैं हूँ गीतों का गीतकार

भवानी प्रसाद मिश्र की साहित्यिक विशेषताएँ

  • भवानी प्रसाद मिश्र की कविताएँ प्रकृति, प्रेम, सामाजिक समस्याओं और आध्यात्मिकता आदि विषयों पर आधारित हैं।
  • उनकी कविताओं में प्रकृति का चित्रण अत्यंत सजीव और मार्मिक है।
  • उन्होंने सामाजिक समस्याओं को भी अपनी कविताओं में बड़ी सूक्ष्मता से चित्रित किया है।
  • उनकी कविताएँ आध्यात्मिकता से भी ओत-प्रोत हैं।
  • उनकी कविताओं में भाषा का प्रयोग सरल, सहज और प्रभावी है।

सम्मान

भवानी प्रसाद मिश्र को उनके साहित्यिक योगदान के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। उन्हें 1972 में “बनी हुई रस्सी” काव्य-संग्रह के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा उन्हें पद्मभूषण, पद्मविभूषण और मध्य प्रदेश सरकार के शलाका सम्मान से भी सम्मानित किया गया।

निधन

भवानी प्रसाद मिश्र का निधन 20 फरवरी, 1985 को होशंगाबाद में हुआ।

निष्कर्ष

भवानी प्रसाद मिश्र हिंदी साहित्य के एक महान कवि, गद्य लेखक और गीतकार थे। उनकी रचनाएँ हिंदी साहित्य में एक अमूल्य निधि हैं। उनकी रचनाओं ने हिंदी साहित्य को समृद्ध किया है और उन्हें हिंदी साहित्य के अमर कवियों में स्थान दिया है।

इन्हे भी पढ़ें:

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.

Leave a Comment