बिटकॉइन क्या होता है? आइये जानते हैं बहुत ही सरल भाषा में

Bitcoin Kya Hota Hai: Bitcoin एक डिजिटल करंसी है, जिसको ना आप देख सकते है और ना ही कोई और देख सकता है। इस वजह से न तो इस पर कोई बैंक और ना ही कोई सरकार कंट्रोल कर पाती है। देखा जाए तो यह एक ऐसी करंसी है जो वर्चुअल होती है। इसे आप कैश का ऑनलाइन वर्जन भी कह सकते है। इसे आप Electronic Form में सेव करके रख सकते है।

देखा जाए तो वर्तमान में Bitcoin का ट्रेंड काफी ज्यादा बड़ गया है। बता दे के आप इसको दूसरे देशो की करंसी की ही तरह खरीद सकते है। जैसे डॉलर, दीनार, यूरो आदि। तो चलिए आइये जानते आज के इस ब्लॉग में Bitcoin Kya Hota Hai और इसके बारे में अन्य जानकारी।

बिटकॉइन से पहले समझे Cryptocurrency Kya Hain?

Bitcoin Kya Hota Hai

Cryptocurrency एक Virtual करंसी है, मतलब इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं है यह एक कंप्यूटर अल्गोरिथम पर बनी करंसी है। इसको आप अपने पास नहीं रख सकते है क्योकि यह सिर्फ इंटरनेट पर ही मौजूद है। Cryptocurrency को किसी भी तरह की अथॉरिटी कण्ट्रोल नहीं कर सकते है। इस करंसी पर नोटबंदी जैसी चीज़ो का भी कोई असर नहीं होता है।

दुनिया में कई तरह की Cryptocurrency है जिनमे Bitcoin भी शामिल है, Bitcoin के अलावा Ethereum, Binance Coin, Tether, Solana, Avalanche, Axie Infinity, Samoyedcoin, Fetch.ai, USD आदि इनमे कई Coin काफी फेमस है।

यह भी पढ़े:- गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? 

बिटकॉइन क्या है? | Bitcoin Kya Hota Hai In Hindi

Satoshi Nakamoto ने Bitcoin को 2008 में बनाया था। जिसको 2009 में open source software के रूप में launch किया गया था। Bitcoin की सबसे छोटी यूनिट को Satoshi कहा जाता है, देखा जाए तो 1 Bitcoin में 10,00,00,000 Satoshi होती है। Satoshi Nakamoto को ही Bitcoin Founder कहा जाता है। देखा जाए तो Bitcoin को कई बड़ी-बड़ी कंपनियों ने अपनाया है जिनमे Microsoft, Tesla भी शामिल है।

Bitcoin एक एक अंग्रेजी शब्द ‘Crypto’ है, जिसका मतलब होता है गुप्त। Bitcoin Cryptography के आधार पर चलती है। आपको बता दे के Cryptography का अर्थ होता है coding language को सुलझाने की कला। Bitcoin को Bitcoin wallet में Save किया जाता है। जिसका उपयोग हम Secure Online transaction करने के लिए इस्तेमाल करते है। देखा जाये तो यह 0 और 1 सीरीज में आती है।

बिटकॉइन किस तरह बनता है?

Bitcoin को बनाना इतना आसान नहीं है। देखा जाए तो यह माइनिंग प्रोसेस से आई एक डिजिटल करेंसी है। जिस वजह से इसकी कीमत काफी बढ़ जाती है। Miner Mathematical और Cryptographic Problems को Solve किया जाता है। इस Problem को Solve करने पर Miner को Bitcoin Block के रूप में Record करते है। Mining process lengthy होता है। जिस वजह से इन्हे limited numbers में बनाए जाते हैं, इसी कारण से इसकी मांग काफी ज्यादा बढ़ रही है।

बिटकॉइन को कहा इस्तेमाल कर सकते है?

Bitcoin का इस्तेमाल हम अलग-अलग online transactions me कर सकते है। देखा जाए तो यह P2P Network पर काम करता है, देखा जाए तो आज कल कई सारे NGO’s वा Developers इसका इस्तेमाल Online Transaction के लिए कर रहे है।

अगर हम अपने बैंक अकाउंट से किसी को ऑनलाइन पेमेंट करते है तो हम अपने रिकॉर्ड में देख कर पता लगा सकते है के हमने किसको पेमेंट की है। लेकिन आपको बता दे के Bitcoin का Record public ledger में नहीं होता है और न ही इसके Record को Track किया जा सकता है, जब किसी दो लोगो के बीच एक्सचेंज हो रहा हो। इसमें हम रिकॉर्ड को 2 बार देख सकते है जब आप किसी को सेल कर रहे हो या आप किसी से कुछ Purchase कर रहे हो।

बिटकॉइन वॉलेट क्या है? किस तरह से करे इस्तेमाल

देखा जाए तो Bitcoin को हम Electronically Store करके अपने पास रख सकते है। वैसे Bitcoin Wallets कई तरह के होते है जिनमे Desktop Wallet, Mobile Wallet, Online/ Web-Based Wallet, Hardware Wallet इन में से एक Wallet का इस्तेमाल कर हमें इसमें Account बनाना होता है।

इन Wallet में हमें Address के रूप में Unique Id मिलती है। मान लीजिए आपने Bitcoin इनाम में जीता है और आपको उसको अपने Account में Store करना है तो आपको वह उस Address की जरुरत पड़ेगी और उसी Address की मदद से आप Bitcoin को अपने Wallet में Store कर पाएंगे।

इसके अलावा अगर आप Bitcoin को बेचते है तब भी आपको Wallet की जरुरत पड़ेगी जब आप अपने Bitcoin को बेचते है और जो पैसे आपको मिलते है उन्हें आप Wallet क मदद से अपने Bank Account में भी Transfer कर सकते है।

यह भी पढ़े :- यार्कर बॉल क्या होती है

Bitcoin में Trade कैसे करते हैं?

जैसा के हमने आपको बताया के Bitcoin Digital Wallet में Save होती है। और इसकी कीमत हर जगह या हर टाइम एक जैसी नहीं होती है, यह Unstable होती रहती है। देखा जाएं तो यह दुनिया की एक्टिविटी पर डिपेंड करती है। Bitcoin पर Trade करने का कोई फिक्स टाइम नहीं होता है, इसमें उतार चढ़ाव होता रहता है।

बिटकॉइन में इन्वेस्ट करने के फायदे

  1. Bitcoin को हम पूरी दुनिया में कहीं भी कभी भी और किसी को भी भेज सकते हैं।
  2. Bank Account की तरह Bitcoin Account को कभी Block नहीं किया जा सकता है।
  3. अगर आप International Transaction में इसका इस्तेमाल करते हैं, आपको सिर्फ इसमें Transaction Fees देनी होगी।
  4. इसमें किसी भी तरह की Middleman की भूमिका नहीं रहती है, जिससे कम खर्च में लेन देन किया जाता है।
  5. इसे किसी देश में Statutory Recognition नहीं दी है। इसलिए इसका उपयोग बिना किसी extra cost से हम कर सकते है।

बिटकॉइन में इन्वेस्ट करने के नुक्सान

  1. Bitcoin में सबसे बड़ा नुकसान यह है अगर कोई आपका Data Hack कर लेता है। और आप उस Data को Recover ना कर पाए, या अगर आप गलती से Password भूल जाते हैं। तो आप अपने अपने द्वारा ख़रीदे गए सारे Bitcoin गवा सकते हैं।
  2. Bitcoin पर किसी Authority का Control नहीं है, जिस वजह से इस को Illegal चीजें खरीदने के उपयोग में लाया जा सकता है।

बिटकॉइन Miner क्या होता है?

हर देश में करेंसी छापने की एक लिमिट होती है। वैसे ही Bitcoin बनाने पर भी लिमिट होती है। Limitation यह है के मार्किट में 21 Million (2 करोड़ 10 लाख) से ज्यादा Bitcoin नहीं आ सकते। देखा जाये तो मार्किट में अभी 13 Million (1 करोड़ 30 लाख) के करीब है। इसके अलावा जो नए Bitcoin है, वो Mining के जरिए आते है।

यह भी पढ़े: Grow With Google से पाइये फ्री सर्टिफिकेट कोर्सेज

Indian Government का Cryptocurrency पर रुख क्या है?

देखा जाए तो Indian Government Parliament के Winter Session में Cryptocurrency को लेकर एक Bill लाने जा रही है जिसमे कई तरह की आपत्ति के साथ सभी private cryptocurrencies पर पूरी तरह से Ban लगाने की तैयारी है। ‘The Cryptocurrency and Regulation of Official Digital Currency Bill 2021′ नाम के इस Bill को आने वाले Parliament Session में Present किए जाने की तैयारी है।

बिटकॉइन से जुड़े कुछ सवाल

Bitcoin की सबसे छोटी unit Satoshi है और 1 Bitcoin = 10,00,00,000 (करोड़) Satoshi होते हैं। जैसे Indian currency के 1 रूपए = 100 पैसे होतें हैं l वैसे ही 10 करोड़ Satoshi से मिलकर एक Bitcoin बनता हैl

बिटकॉइन को किसने बनाया है?

Satoshi Nakamoto ने Bitcoin को 2008 में बनाया था।

क्या बिटकॉइन एक अकेली Digital Currency है?

Bitcoin के अलावा Ethereum, Binance Coin, Tether, Solana, Avalanche, Axie Infinity, Samoyedcoin, Fetch.ai, USD आदि इनमे कई Coin काफी फेमस है।

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है, जिसको ना आप देख सकते है और ना ही कोई और देख सकता है।

बिटकॉइन कैसे बनता है?

Bitcoin की सबसे छोटी unit Satoshi है, और 1 Bitcoin = 10,00,00,000 (करोड़) Satoshi होते हैं। जैसे Indian currency के 1 रूपए = 100 पैसे होतें हैं l वैसे ही 10 करोड़ Satoshi से मिलकर एक Bitcoin बनता हैl

Leave a Comment