Euparjan , MP किसान ऑनलाइन पंजीयन, ई उपार्जन पंजीयन

मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए ई-उपार्जन प्रणाली की शुरुआत की है। यह प्रणाली किसानों को ऑनलाइन पंजीयन कराने और अपनी उपज सरकारी खरीद केंद्रों (एपीसी) में बेचने की अनुमति देती है। ई-उपार्जन प्रणाली के लाभों के बारे में यहां कुछ जानकारी दी गई है:

Euparjan किसानों के लिए लाभ

  • ऑनलाइन पंजीयन की सुविधा: ई-उपार्जन प्रणाली के माध्यम से, किसान घर बैठे ही ऑनलाइन पंजीयन कर सकते हैं। इससे उन्हें सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने से बचने में मदद मिलती है।
  • उपज का उचित मूल्य: ई-उपार्जन प्रणाली के माध्यम से, किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिलता है। इससे उनकी आय में वृद्धि होती है।
  • भुगतान की त्वरित प्रक्रिया: ई-उपार्जन प्रणाली के माध्यम से, किसानों को उनकी उपज का भुगतान सात कार्य दिवसों के भीतर उनके बैंक खाते में किया जाता है। इससे उन्हें वित्तीय सहायता प्राप्त करने में आसानी होती है।

शासन के लिए लाभ

  • खरीदी प्रक्रिया में पारदर्शिता: ई-उपार्जन प्रणाली के माध्यम से, खरीद प्रक्रिया पारदर्शी हो जाती है। इससे भ्रष्टाचार को रोकने में मदद मिलती है।
  • खरीदी प्रक्रिया में दक्षता: ई-उपार्जन प्रणाली के माध्यम से, खरीद प्रक्रिया अधिक कुशल हो जाती है। इससे समय और धन की बचत होती है।

ई-उपार्जन प्रणाली कैसे काम करती है?

ई-उपार्जन प्रणाली के तहत, किसान को सबसे पहले ऑनलाइन पंजीयन करना होगा। पंजीयन के लिए, किसान को अपने आधार कार्ड, बैंक खाते की जानकारी, और खेत की जानकारी प्रदान करनी होगी। पंजीयन के बाद, किसान अपनी उपज को सरकारी खरीद केंद्रों में बेच सकता है।

किसान को अपनी उपज बेचने के लिए, उसे सबसे पहले खरीद केंद्र पर जाना होगा। खरीद केंद्र पर, किसान को अपनी उपज का वजन करवाना होगा। वजन के बाद, किसान को अपनी उपज की गुणवत्ता का परीक्षण करवाना होगा। गुणवत्ता परीक्षण के बाद, किसान को अपनी उपज की बिक्री के लिए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना होगा। अनुबंध पर हस्ताक्षर के बाद, किसान को अपनी उपज का भुगतान सात कार्य दिवसों के भीतर अपने बैंक खाते में प्राप्त होगा।

ई-उपार्जन प्रणाली के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाते की जानकारी
  • खेत की जानकारी

ई-उपार्जन प्रणाली के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

ई-उपार्जन प्रणाली के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए, किसान को निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

  1. मध्य प्रदेश सरकार की वेबसाइट https://mpeuparjan.nic.in/ पर जाएं।
  2. “किसान पंजीयन” टैब पर क्लिक करें।
  3. आवश्यक जानकारी भरें और “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।
  4. अपना पंजीयन शुल्क का भुगतान करें।
  5. अपने पंजीयन की स्थिति की जांच करने के लिए “पंजीयन स्थिति देखें” टैब पर क्लिक करें।

ई-उपार्जन प्रणाली के लिए सहायता प्राप्त कैसे करें?

ई-उपार्जन प्रणाली के लिए सहायता प्राप्त करने के लिए, किसान निम्नलिखित तरीकों का उपयोग कर सकते हैं:

  • मध्य प्रदेश सरकार की वेबसाइट https://mpeuparjan.nic.in/ पर जाएं और “सहायता” टैब पर क्लिक करें।
  • ई-उपार्जन प्रणाली के टोल-फ्री नंबर 1800-233-0222 पर कॉल करें।
  • अपने स्थानीय जिला खाद्य अधिकारी से संपर्क करें।

ई-उपार्जन प्रणाली मध्य प्रदेश के किसानों के लिए एक वरदान है। यह प्रणाली किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने और खरीद प्रक्रिया को पारदर्शी और कुशल बनाने में मदद करती है।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.