हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना: जानिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, उद्देश्य, पात्रता, लाभ वा विशेषताएं

Haryana Labour Department Yojana | Haryana Labour Department Scheme | हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना ऑनलाइन आवेदन | Haryana Labour Department Yojana Apply | हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म

हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना: केंद्र वा राज्य सरकारों के द्वारा राज्य में रहने वाले असंगठित क्षेत्रों के मजदूरों के जीवन स्तर को ऊपर उठाने के लिए विभिन्न तरह की योजनाओ को आरंभ किया जाता है। लेकिन कई बार आरंभ की गई योजना मजदूरों तक नहीं पहुंच पाती है इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार के द्वारा हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना को आरंभ किया गया है। योजना के माध्यम से राज्य में रहने वाले पंजीकृत मजदुर वा उनके परिवारों को सरकार के द्वारा जारी की जाने वाली योजनाओ की जानकारी मिलेगी वा वह उन योजनाओ का लाभ उठा पाएंगे ।

यदि आप भी हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना से जुडी पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है। तो आपको हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए, इस लेख में हमने योजना में आवेदन प्रक्रिया, योजना का मुख्य उद्देश्य योजना में पात्रता वा लाभ बताये है तो चलिए जानते है। हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना से जुडी जानकारी।

Contents

हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना क्या है?

केंद्र वा राज्य सरकारों के द्वारा देश में रहने वाले असंगठित क्षेत्रों से जुड़े कामगार श्रमिकों के जीवन स्तर को उपर उठाने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओ को लागू किया जाता है। लेकिन कई बार आरंभ की जाने वाली योजना का लाभ पात्र वा जरूरतमंद लोगो तक नहीं पहुंच पता है। जिससे या तो योजना फैल हो जाती है। या योजना का कई दूसरे लोग लाभ उठा लेते है। इन्ही समस्याओ को देखते हुए हरियाणा राज्य सरकार के द्वारा हरियाणा श्रमिक विभाग योजना की शुरुआत की गई है।

इस योजना के माध्यम से राज्य में रहने वाले श्रमिक ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा प्रदान कर उन्हें एक ही जगह आरंभ की जाने वाली सभी सरकारी योजनाओ की जानकारी प्राप्त कर अपनी पात्रता के आधार पर लाभ प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करती है। इस योजना को आरंभ करने के पश्चात पात्र नागरिक आसानी से आरंभ की जाने वाली सरकारी सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगे, तथा घर बैठे ही योजना में ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे। जिससे उनका कीमती समय वा पैसा दोनों बच सकेगा।

Haryana Labour Department Scheme

योजना का नामहरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना
किनके द्वारा आरंभ की गईहरियाणा सरकार के द्वारा
मुख्य उद्देश्यदेश में रहने वाले श्रमिकों को सरकार द्वारा संचालित
विभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान करना
योजना से जुड़े लाभार्थीहरियाणा राज्य के असंगठित क्षेत्रों के कामगार श्रमिक
राज्य श्रम विभाग हरियाणा
वर्ष2022
संबंधित विभागहरियाणा
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhrylabour.gov.in

हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना का मुख्य उद्देश्य

हरियाणा राज्य सरकार के द्वारा हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में रहने वाले उन सभी श्रमिकों को योजना के माध्यम से सरकार के द्वारा जारी की जाने वाली विभिन्न सरकारी योजनाओ का लाभ वा जानकारी प्रदान करना है। इन सभी जानकारी को असंगठित क्षेत्रों में कार्यरत श्रमिक जारी किये गए पोर्टल से प्राप्त कर सकेंगे।

वही राज्य में रहने वाले सभी श्रमिक मजदुर केंद्र सरकार के द्वारा आरंभ की जाने वाली योजनाओ में आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकेंगे। साथ ही श्रम पोर्टल पर पात्र श्रमिक ऑनलाइन घर बैठे ही सरकारी योजनाओ में आवेदन कर सकेंगे। जिससे उनका कीमती समय बचेगा वा पोर्टल पर श्रमिकों की जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध होने से योजना में अधिक पारदर्शिता भी आएगी। इसके साथ ही पोर्टल पर सभी श्रमिकों की जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध होने से सरकार के द्वारा भविष्य में बनाई जाने वाली योजनाओ को श्रमिकों के डाटा बेस पर बनाया जा सकेगा।

यह भी पढ़े:- Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana

Haryana Labour Department Scheme के लाभ

  • हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना का लाभ राज्य में रहने वाले असंगठित क्षेत्रों के श्रमिक उठा पाएंगे।
  • राज्य के पंजीकृत श्रमिकों को सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजनाओ के बारे में अधिक जानकारी इस पोर्टल पर प्राप्त कर सकेंगे।
  • ऑनलाइन होने की वजह से सरकार के पास श्रमिकों की जानकारी उपलब्ध होगी जिससे कार्यों में अधिक पारदर्शिता बनाई जा सकेगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के श्रमिक कई योजनाओ का लाभ प्राप्त कर सकते है जिनमे बच्चों के लिए प्रोफेशनल टेक्निकल कोर्सेज के लिए वित्तीय सहायता, बेटी की शादी पर वित्तीय सहायता, विधवा पेंशन, औजार खरीदने हेतु उपदान, मुख्यमंत्री महिला श्रमिक सम्मान योजना आदि शामिल है।
  • इस योजना के द्वारा श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार हो सकेगा वा वह आर्थिक रूप से मजबूत बन सकेंगे।
  • आवेदनकर्ता अब अपने मोबाइल के द्वारा ही सरकार के द्वारा जारी की जाने वाली योजनाओ का लाभ उठा पाएंगे अब श्रमिकों को सरकारी कार्यालयों में चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

यह भी पढ़े:- Kaushalya Matritva Yojana 2022

हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजनाओं के लाभ व पात्रता

हरियाणा श्रम विभाग पोर्टल पर कई ऐसी योजनाए है जिनके बारे में कई श्रमिक नहीं जानते है आप निचे दी गई जानकारी के द्वारा उन सभी योजनाओ के बारे में जान सकेंगे।

प्रोफेशनल/टेक्निकल कोर्सेज के लिए वित्तीय सहायता –  आवेदक श्रमिक के पास एक वर्ष की नियमित सदसयता होनी जरुरी है। शिक्षण संस्थानों के द्वारा बच्चे के नियमित रूप से विद्यालय आने का एक घोषणा प्रमाण पत्र जारी किया जाना चाहिए, शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता एक परिवार के तीन बच्चों को प्रदान की जाएगी। यदि बच्चे को एक स्तर में पहले योजना का लाभ मिल जाता है, तो उसी कक्षा में फेल होने पर दोबारा योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा। अगर छात्र स्वयं रोजगार या नौकरी पर हैं, तो वह योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र नहीं माने जाएँगे। योजना में आवेदक श्रमिकों के बच्चों को 2000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता – आवेदनकर्ता के पास नियमित एक वर्ष की सदस्यता होनी जरुरी है वा संस्था के मुखिया के द्वारा एक प्रमाण पत्र भी अपलोड करना अनिवार्य होगा, जिसमें यह घोषणा की जाएगी कि विद्यार्थी द्वारा नियमित रूप से पढ़ाई की जा रही है। योजना के द्वारा हरियाणा के स्कूल/कॉलेजों में शिक्षा प्राप्त करने वाले एक परिवार के केवल तीन बच्चे ही इस योजना का लाभ उठा पाएंगे। यदि विद्यार्थी कक्षा में फेल हो जाता है तो उसको आर्थिक सहायता प्रदान नहीं की जाएगी। इस योजना के माध्यम से छात्रों को पहली कक्षा से ग्रेजुएट तक प्रतिवर्ष 8000 रूपए से 20000 रूपए तक वित्तीय सहायता प्राप्त हो सकेगी।

व्यावसायिक/तकनीकी संस्थानों में हॉस्टल सुविधा प्राप्र्त करने के लिए वित्तीय सहायता – श्रमिक परिवार से आने वाले बच्चो को व्यावसायिक/तकनीकी संस्थानों में हॉस्टल सुविधा के लिए 1 लाख 20 हजार रूपए तक की अधिकतम वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। जिसको प्राप्त करने के लिए श्रमिक के पास एक वर्ष की सदस्यता होना आवश्यक है साथ ही योजना के अंतर्गत हॉस्टल के लिए वित्तीय सहायता 3 बच्चों तक प्रदान की जाएगी। संस्था मुख्य द्वारा एक प्रमाण पत्र जमा करना भी अनिवार्य होगा जिसमें यह घोषणा की जाएगी कि विद्यार्थी द्वारा नियमित रूप से पढ़ाई की जा रही है।

औजार (उपकरण) खरीदने हेतु उपदान – पंजीकृत श्रमिक के पास न्यूनतम एक वर्ष की सदस्यता होनी आवश्यक है योजना के अंतर्गत कामगार श्रमिकों को 5 वर्षो में एक बार नए औजार खरीदने के लिए 8000 रूपये दिए जाएँगे।

सिलाई मशीन योजना – योजना के अंतर्गत पंजीकृत महिला को न्यूनतम एक वर्ष की नियमित सदस्यता होनी आवश्यक है। योजना का लाभ पंजीकृत महिला अपने कार्यकाल में केवल एक ही बार उठा सकती है जिसमे उन्हें 3,500 रुपए की आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध करवाई जाएगी।

साइकिल योजना – पंजीकृत श्रमिक के पास न्यूनतम एक वर्ष की सदस्यता होना आवश्यक है। योजना का लाभ पंजीकृत श्रमिक के द्वारा पाँच वर्ष में एक बार प्राप्त किया जा सकेगा। जिसमे श्रमिक को 3000 रूपए की आर्थिक सहायता राशि साइकिल खरीद के लिए दी जाएगी।

बच्चों की शादी पर वित्तीय सहायता – योजना में आवेदन करने हेतु आवेदनकर्ता की न्यूनतम सदस्यता एक वर्ष होना आवश्यक है। संबंधित अधिकारी से शादी का कार्ड वा आवेदन पत्र प्रमाणित होना आवश्यक है। वही वर की आयु 21 वर्ष वा वधु की आयु 18 वर्ष होना चाहिए। आवेदनकर्ता के द्वारा एक घोषणा पत्र जमा करना होगा जिसमे यह घोषणा करनी होगी कि वह किसी अन्य सरकारी विभाग से इस प्रकार की किसी योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर रहा है। योजना की पात्रता को पूरा करने वाले आवेदक की पुत्री को विवाह से 3 दिन पूर्व 50,000 रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

कामगारों के मेधावीं बच्चों के लिए प्रोत्साहन राशि – योजना के अंतर्गत कामगार श्रमिकों के बच्चों को 60 प्रतिशत अंकों से ऊपर और 90 प्रतिशत से ऊपर अंक लाने पर 21,000 हजार वा 51,000 हजार रूपए तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।

विधवा पेंशन योजना – योजना के अंतर्गत आवेदक श्रमिक की मृत्यु के पश्चात उसकी पत्नी को 3000 हजार रूपए प्रतिमाह पेंशन का लाभ दिया जाएगा, इसके लिए आवेदक श्रमिक की न्यूनतम एक वर्ष की सदस्यता होना जरुरी है। यदि विधवा महिला हरियाणा सरकार बोर्ड/कॉर्पोरेशन या पीएसयू के द्वारा नियुक्त की जाती है, तो ऐसी स्थिति में वह आवेदन की पात्र नहीं होगी, साथ ही अगर महिला के द्वारा दूसरी शादी की जाती है या वह राज्य में निवास नहीं करती है तब भी वह योजना का लाभ नहीं उठा सकेगी।

मुख्यमंत्री महिला श्रमिक सम्मान योजना – इस योजना में केवल महिला श्रमिक ही आवेदन की पात्र होंगी, योजना का लाभ पंजीकृत महिला को प्रतिवर्ष उसकी सदस्य्ता का नवीनीकरण पर दिया जाएगा। इस योजना के द्वारा महिला को किचन के बर्तन, साडी, सूट, रेन कोट, छाता आदि की खरीद के लिए बोर्ड की और से 5,100 रूपए की वित्तीय सहायता का लाभ दिया जाएगा।

मातृत्व लाभ – इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक श्रमिक के पास न्यूनतम एक वर्ष की सदस्यता होनी अनिवार्य है। साथ ही बच्चे के जनम के बाद उसका जन्म प्रमाण पत्र सलंग्न कराना अनिवार्य है। योजना का लाभ परिवार के दो बच्चो के लिए देय है। लेकिन बच्चों के क्रम को ना देखते हुए यह लाभ तीन लड़कियों तक दिया जाता है। यदि आवेदक के पति के द्वारा किसी निगम या विभाग से पितृत्व लाभ लिया जा चूका है, तब ऐसी स्थिति में आवेदक को मातृत्व लाभ नहीं दिया जाएगा। योजना के अंतर्गत आवेदक को नवजात शिशु के जन्म के पश्चात 36,000 हजार रूपए की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

कन्यादान योजना – योजना में पंजीकृत श्रमिकों के पास न्यूनतम एक वर्ष की नियमित सदस्यता होना अनिवार्य है। साथ ही लड़की की शादी के बाद सभी दस्तावेज वा आवेदन पत्र प्रस्तुत करना होगा वा विवाह का पंजीकरण प्रमाण पत्र जमा कराना होगा।। साथ ही घोषणा पत्र जिसमे यह लिखा हो की आवेदक की पुत्री की शादी के लिए उन्हें कही और से अनुदान नहीं प्राप्त हुआ है। इस योजना के द्वारा कन्या को विवाह के लिए 51,000 हजार रूपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

पैतृक घर जाने का किराया – पंजीकृत श्रमिक के पास न्यूनतम एक वर्ष की नियमित सदस्यता होना आवश्यक है। साथ ही यात्रा टिकट भी जमा कराना अनिवार्य है। योजना का लाभ वर्ष में एक बार श्रमिक सहित परिवार के पाँच सदस्यों को बोर्ड के द्वारा घर जाने पर वास्तविक रेल किराए पर भरपाई की जाएगी।

अपंगता सहायता – योजना में पंजीकृत श्रमिकों के पास न्यूनतम एक वर्ष की नियमित सदस्यता होना अनिवार्य है। साथ में हरियाणा स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्थाई अपंगता का प्रमाण पत्र होना चाहिए, विकलांगता होने के एक वर्ष के भीतर आवेदक को आवेदन करना अनिवार्य है। इस योजना के द्वारा आवेदक को एक लाख रुपए से डेढ़ लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

चिकित्सा सहायता (मजदूरी मुआवजा) – पंजीकृत श्रमिक के पास न्यूनतम एक वर्ष की नियमित सदस्यता होना आवश्यक है। योजना के द्वारा किसी दुर्घटना या बिमारी से पीड़ित होने पर श्रमिक को सरकार के द्वारा अनुमोदित हॉस्पिटल में चार से तीस दिनों तक दाखिल होने पर न्यूनतम मजदूरी के आधार पर वित्तीय सहायता दी जाएगी। इस योजना का लाभ एक वर्ष में एक महीने की अवधि से अधिक नहीं दी जाएगी।

दाह संस्कार – योजना के अंतर्गत कामगार का नियमित पंजीकरण होना आवश्यक है। साथ ही श्रमिक का मृत्यु प्रमाण पत्र होना भी अनिवार्य है। इसके अलावा नामांकित/क़ानूनी उत्तराधिकारी होने का प्रमाण पत्र। वा कामगार का पहचाहन पत्र होना अनिवार्य है। योजना के तहत श्रमिक के क़ानूनी उत्तराधिकारी को 15,000 हजार रूपए की धनराशि देह संस्कार के लिए दी जाएगी।

हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना में आवेदन के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

किसी भी योजना में आवेदन करने हेतु आवेदक के पास महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है। अधूरे दस्तावेजों के साथ आवेदन प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकेगी इसलिए आवेदन करने से पूर्व निचे दिए गए दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ ले।

  • आवेदनकर्ता का आधार कार्ड
  • आवेदनकर्ता का राशन कार्ड
  • आवेदनकर्ता का निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदनकर्ता का मोबाइल नंबर
  • आवेदनकर्ता की बैंक की पासबुक
  • आवेदनकर्ता का पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदनकर्ता की ईमेल आईडी

यह भी पढ़े:- Pauni Pasari Yojana Chhattisgarh

हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना की आवेदन प्रक्रिया

यदि आप भी हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना में आवेदन करना चाहते है तो आपको निचे दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा, यहाँ से आपको अपनी आवश्यकता अनुसार योजना को चुनना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जिस पर आपको अप्लाई नाउ के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने योजना का आवेदन पत्र खुल जाएगा।
  • आवेदन पत्र में आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा जिनमे आपका नाम, ईमेल आईडी, वा मोबाइल नंबर शामिल है।
  • अब आपको आवेदन फॉर्म में मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी को अपलोड करना होगा।
  • इस तरह आप हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट योजना में अपना आवेदन पूर्ण कर पाएंगे।

सर्टिफिकेट वेरिफाई करने की प्रक्रिया

यदि आवेदनकर्ता को अपना सेर्टिफिकेट वेरिफाई कराना चाहते है, तो निचे बताई गई प्रक्रिया को फॉलो करके आप अपना सर्टिफिकेट वेरीफाई करा सकते हैं।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आवेदनकर्ता को होम पेज पर स्क्रोल डाउन करके वेरीफाई योर सर्टिफिकेट के सेक्शन में जाना होगा।
  • यहाँ आपको अपने टाइप का चयन करने के पश्चात अपने लाइसेंस/सर्टिफिकेट नंबर को दर्ज करना होगा।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपकी सर्टिफिकेट वेरीफाई करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

यह भी पढ़े:- छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना

डिपार्टमेंट लॉगिन करने की प्रक्रिया

यदि आपको हरियाणा विभागीय लॉगिन करना है, तो आप निचे दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करके अपनी लॉगिन प्रक्रिया को पूर्ण कर सकते है।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा जहा आपको डिपार्टमेंट लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • यहाँ आवेदनकर्ता को लॉगिन करने के लिए यूज़र नाम, पासवर्ड और दिए गए कैप्चा कोड को दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के पश्चात आवेदनकर्ता को लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • क्लिक करते ही आपकी डिपार्टमेंट लॉगिन करने की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

यूजर लॉगिन करने की प्रक्रिया

आवेदनकर्ता को यूजर लॉगिन करने के लिए निचे दिए गए दिशा निर्देशों का पालन कराना होगा।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा जहा आपको यूजर लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • लॉगिन करने के लिए यूजर टाइप का चयन करने के पश्चात ईमेल/यूज़र नेम, पासवर्ड और दिए गए कैप्चा कोड को दर्ज कर देना होगा।
  • अब आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • इस तरह आप यूजर लॉगिन में लॉगिन कर सकेंगे।

यह भी पढ़े:- दाई दीदी मोबाइल क्लिनिक योजना क्या है?

ग्रीवेंस (शिकायत) दर्ज करने की प्रक्रिया

यदि आवेदनकर्ता को श्रम विभाग हरियाणा योजना में आवेदन से सम्बंधित किसी तरह की समस्या या शिकायत है, आप इसके लिए श्रम विभाग पोर्टल पर निचे दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करके शिकायत भी दर्ज कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • यहाँ आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा जहा आपको E-Services के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जहा आपको दिए गए विकल्पों में से Grievance redressal के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज होगा, यहाँ आपको Add Complaint के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने कंप्लेंट फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • फॉर्म में पूँछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी को आपको दर्ज करना होगा।
  • जानकारी दर्ज करने के पश्चात अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपकी शिकायत करने की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

ग्रीवेंस स्टेटस ट्रैक करने की प्रक्रिया

आवेदनकर्ता के द्वारा योजना से सम्बंधित किसी प्रकार की शिकायत दर्ज की गई है तो ऐसे में शिकायत की स्थिति भी आप निचे दिए गए दिशा निर्देशों को फॉलो करके देख सकते है।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा जहा आपको E-Services के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको दिए गए विकल्पों में से Grievance redressal के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा।
  • यहाँ आपको अपनी शिकायत को दर्ज करना होगा वा Track के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने ग्रीवेंस स्टेटस की जानकारी आपकी स्क्रीन पर खुलकर आ जाएगी।

रजिस्ट्रेशन रिनुअल ग्रांटेड डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

यदि आपको रजिस्ट्रेशन रिनुअल ग्रांटेड डैशबोर्ड के बारे में जानकारी चाहिए तो आपको निचे दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • होम पेज पर ही आपको BRAP का विकल्प दिखाई देगा, जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जहा आपको Registration/Renwal Granted Dashboard के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने रजिस्ट्रेशन रिनुअल ग्रांटेड डैशबोर्ड खुलकर आ जाएगा।

सिटीजन चार्टर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • होम पेज पर ही आपको Miscellaneous के लिंक में Citizen Charter के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा।
  • यहाँ आपको सीटीजन चार्टर से संबंधित सभी जानकारी पीडीएफ फॉर्म में मिल जाएगी जिसे आप आसानी से डाउनलोड कर सकते है।

इंस्पेक्शन डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • होम पेज पर आपको BRAP के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के पश्चात आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा जहा आपको इंस्पेक्शन डैशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जहा आपके सामने इंस्पेक्शन डैशबोर्ड से संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

पोर्टल पर BRAP-Usage Dashboard देखने की प्रक्रिया

यदि आप BRAP-Usage Dashboard करना चाहते है तो आपको निचे दिए गए दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को हरियाणा लेबर डिपार्टमेंट की आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • होम पेज पर ही आपको BRAP के विकल्प में BRAP-Usage Dashboard के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा।
  • जहा आपको ACT Type, Start Date, End Date का चयन करके Filter के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने BRAP-Usage Dashboard से संबंधित जानकारी आपके सामने ओपन हो जाएगी।

संपर्क विवरण

  • Head Office: 0172-2701373
  • ALC Head Office: 0172-2971059
  • IT Cell:0172-2971057
  • ALC NCR: 0124-2322148
  • Haryana Labour Welfare Board: 0172-2560226
  • Toll-Free No. : 1800-180-4818
  • Office address:- Bays No. 29-30 (Pocket-II), Sector-04 Panchkula (Haryana) -134112
  • SARAL Helpline: 1800-200-0023
  • Toll Free No. For HBOCW Board : 1800-180-2129
  • (टोल फ्री नंबर HBOCW बोर्ड के लिए)
  • HBOCW Board : 0172-2575300

Leave a Comment