Insurance Samadhan Shark Tank Deal Update

शार्क टैंक इंडिया भारत के विभिन्न हिस्सों से रोमांचक, महत्वाकांक्षी स्टार्टअप संस्थापकों की एक नई श्रृंखला के साथ एक और सप्ताह शुरू करता है। शार्क टैंक इंडिया में इस सप्ताह के एपिसोड के लिए पीयूष बंसल (लेंसकार्ट), नमिता (एमक्योर फार्मा), ग़ज़ल अलघ (मामाअर्थ), विनीता सिंह (शुगर कॉस्मेटिक्स) और अनुपम (शादी डॉट कॉम) होंगे।

इन्श्योरेन्स समाधान बीमा क्षेत्र में पांच अनुभवी सदस्यों द्वारा स्थापित किया गया है और मैक्स लाइफ इंश्योरेंस की सेवा से अपना अनुभव अर्जित किया है।

इन्श्योरेन्स समाधान शार्क टैंक इंडिया डील या नो डील?

कंपनी का नामInsurance Samadhan
संस्थापकशैलेश कुमार, दीपक भुवनेश्वरी उनियाल, संजय अग्रवाल, शिल्पा अरोड़ा, रवि माथुर
उत्पादएक सराहनीय सफलता दर के साथ बीमा शिकायत समाधान का समर्थन करता है
के लिए कहा₹1 करोड़ 1% इक्विटी के लिए
अंतिम सौदा₹1 करोड़ 4% इक्विटी के लिए
शार्कPeyush Bansal
एपिसोड ( शार्क टैंक इंडिया )सीजन 1 एपिसोड 26 (25 जनवरी)
वेबसाइटInsurance Samadhan

शार्क टैंक इंडिया में इन्श्योरेन्स समाधान का क्या हुआ?

  • बीमा समाधान की स्थापना एक महत्वाकांक्षी उद्यमियों, रवि माथुर, दीपक भुवनेश्वरी उनियाल और शिल्पा अरोड़ा ने की है, जिन्होंने एक बड़ी समस्या के समाधान के साथ शार्क टैंक में प्रवेश किया।
  • बीमा समाधान शार्क टैंक इंडिया प्लेटफॉर्म में आया और अपनी बीमा दावा समाधान प्रबंधन कंपनी ‘बीमा समाधान’ में 1% इक्विटी के लिए 1 करोड़ रुपये की मांग की।
  • शार्क उस समस्या से प्रभावित हैं जो लाखों लोगों की सेवा कर रही है। उन्होंने व्यवसाय क्यों शुरू किया, इसकी कहानी दिल को छू लेने वाली थी। हालांकि, अंतरिक्ष में अत्यधिक प्रतिस्पर्धा के कारण, अधिकांश शार्क ने निवेश करने से मना कर दिया।
  • अनुपम और नमिता निवेश की दौड़ छोड़ने वाले पहले दो शार्क हैं। विनीता ने 25% इक्विटी के लिए INR 1 करोड़ की पेशकश की।
  • कंपनी में निवेश का पहला दौर 12% इक्विटी के लिए 5 करोड़ रुपये का था। हालाँकि, अनुरोधित मूल्यांकन बहुत अधिक था। पीयूष ने 5% इक्विटी के लिए INR 1 करोड़ की पेशकश की। हालांकि, वह 4% इक्विटी पर आ गया।
  • इसलिए, बीमा समाधान को शार्क टैंक इंडिया में शार्क से एक सौदा मिला।

मिलिए Insurance Samadhan टीम से जो आपके समाधान के लिए हमेशा प्रयासरत हैं

शैलेश कुमार

शैलेश, बीमा व्यवसाय में 2001 से जुड़े हैं। शैलेश भी बीमा जागरूकता और ग्राहक अधिकारों के लिए काम करना चाहते हैं इसलिए इन्श्योरेन्स समाधान के लिए काम करने का निर्णय लिया। शैलेश इन्श्योरेन्स इन्स्टीट्यूट आफ इंडिया से फैलो है और करीब 5000 एजेन्ट और मैनेजरों को ट्रेनिंग दे चुके हैं।

शैलेश का विश्वास है कि इन्श्योरेन्स सैक्टर का भारत के आर्थिक विकास में बड़ा रोल है और उसके लिए पब्लिक का विश्वास जरूरी है. पिछले 20 सालों से शैलेश कंज्यूमर अधिकारों के लिए काम करते रहे हैं और बीमा ग्राहकों को करीब एक करोड़ रुपए दिलाने में सफल रहे।

दीपक भुवनेश्वरी उनियाल

दीपक करीब 15 सालों से बीमा व्यवसाय से जुड़े हैं. दीपक की सफलता के पीछे उनका व्यवहार , आदर्श आचरण , जरूरत के अनुसार बीमा बेचने का नियम , त्वरित सर्विस देने का वायदा रहा है। अपने काम के दौरान दीपक को बहुत सारी बीमा शिकायतों को निपटाने का मौका मिला और इन्होंने इस दिशा में काम करने का निर्णय लिया।

अपने पिछ्ले व्यवसाय में दीपक करीब 500 संतुष्ट क्लाइंट को बीमा सर्विस दे चुके हैं। दीपक किसी नये बिजनेस के लिए सम्पर्क नहीं करते हैं। दीपक अपना पूरा समय इन्श्योरेन्स समाधान द्वारा बीमा ग्राहकों की शिकायतों को दूर करने और बीमा जागरूकता की तरफ लगाते हैं। दीपक को विश्वास है कि बीमा व्यवसाय में विश्वसनीयता ज़रुरी है और इन्श्योरेन्स समाधान इस दिशा में काम कर सकता है।

संजय अग्रवाल

संजय ने अपनी वकालात की डिग्री दिल्ली विश्वविद्यालय से ली और स्कॉलरशिप मिलने के बाद इंग्लैंड की यॉर्क लॉ स्कूल से मास्टर्स की डिग्री हासिल की। उन्होने अमेरिका मैं “फिश & नावे ” और “लदास & पैरी ” जानीमानी लॉ कंपनी के साथ ट्रेनिंग करी. संजय को 2011 में गलत स्वास्थ बीमा बेच दिया गाया था, उन्होने देखा की बहुत लोग इन्शुरन्स मे धोखा खा रहे हैं।

इन्शुरन्स का नाम खराब हो रहा है. एक अच्छे नागरिक और अपने अनुभव के वजह से उन्होने इन्शुरन्स के 3 अनुभवी लोगों के साथ मिलकर इन्शुरन्स समाधान का स्थापन किया।

संजय अपने 20 साल से ज़ादा के अनुभव के साथ इन्शुरन्स समाधान के को -फाउंडर और लीगल हेड हैं. वह लीगल , ग्राहक नियम और कंपनी के निवेशकों के साथ संवाद का ख्याल रखते हैं। उनकी भारतीय उपभोक्ता संरक्षण नियमो की जानकारी और अनुभव बाकी को-फाउंडर्स के साथ हमारे ग्राहकों की समस्याओ का समाधान करने मैं बहुत उपयोगी हैं।

शिल्पा अरोड़ा

इंश्योरेंस समाधान के सिस्टम , क्लाइंट सर्विस और सफलता के पीछे शिल्पा की मेहनत , लगन और अनुशासन का बहुत बड़ा हाथ है. शिल्पा के 22 साल का अनुभव और इन्श्योरेन्स इन्स्टीट्यूट की एसोसिएट डिग्री उनके ‌काम को और बेहतर बनाते हैं। शिल्पा का ट्रेनिंग अनुभव , जापानी कम्पनी के साथ अन्तर्राष्ट्रीय अनुभव और Abbott कम्पनी में हास्पिटल के साथ काम करने का अनुभव आज इन्श्योरेन्स समाधान को एक प्रोफैशनल आर्गनाइजेशन बनाने में बहुत मदद कर रहा है।

रवि माथुर

रवि एक स्टार्ट अप एक्सपर्ट हैं और नयी स्टार्ट अप जैसे आइ आइ एम जाब , कार 24 के साथ जुड़े रहे हैं . रवि टैक्नोलॉजी के साथ सोते , जागते , खाते और पीते हैं। रवि टैक्नोलॉजी ग्रेजुएट हैं और 8 साल का अनुभव रखते हैं . रवि को टैक्नोलॉजी टीम के साथ रिजल्ट लाने का और चैलेंज लेने का जनून है।

Leave a Comment