Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana – Purijankari

Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana Online Registration | झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना ऑनलाइन आवेदन | Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana Application Form

Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana 2022: राज्य सरकारे अपने राज्य के नागरिको के लिए कई प्रकार की योजनाओ को आरंभ करती है, जिनका लाभ प्राप्त कर नागरिक अपनी समस्याओ का समाधान करते है। ऐसी ही एक प्राकृतिक समस्या के कारण झारखण्ड राज्य के ग्रामीण इलाके के माकन बड़ी संख्या में ध्वस्त हो गए थे। उन्ही नागरिको को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से झारखण्ड राज्य सरकार के द्वारा झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना को आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार उन सभी नागरिको को पक्के मकान प्रदान करेगी जिनके मकान प्राकृतिक आपदा की वजह से ध्वस्त हो गए थे।

यदि आप Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana 2022 से जुडी पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आपको हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए इस लेख में हमने योजना से जुडी छोटी से छोटी जानकरी को बहुत ही आसान भाषा में समझाया है। इस लेख में आप झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना क्या है, योजना की विशेषताएं व लाभ, योजना की पात्रता, योजना का मुख्य उद्देश्य, योजना के अंतर्गत लगने वाले महत्वपूर्ण दस्तावेज व आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानेंगे। तो आइए इस लेख के माध्यम से Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के बारे में जानते है।

झारखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले उन सभी नागरिको को प्रदान किया जायेगा जिनके मकान प्राकृतिक आपदा की वजह से क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गए थे। इसके साथ ही इस योजना का लाभ विधवा महिला एवं आवास विहीन महिलाओं को भी प्रदान किया जाएगा।

इस योजना के अंतर्गत मकान का निर्माण पूर्ण करने हेतु सरकार की और से 130000 रूपए की आर्थिक सहायता की जाएगी जो की तीन किस्तों में लाभार्थी के बैंक खातों में ट्रांसफर की जाएगी। जिसमे पहली क़िस्त में लाभार्थी को 40000 रूपए प्रदान किये जाएंगे। दूसरी क़िस्त में 85000 रूपए व तीसरी व आखरी क़िस्त में लाभार्थी को 5000 रूपए का भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा लाभार्थी को मनरेगा के अंतर्गत 95 दिनों का रोजगार भी प्रदान किया जाएगा।

योजना का नामझारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना
किनके द्वारा आरंभ की गईझारखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के
द्वारा आरंभ की गई
योजना का मुख्य उद्देश्यग्रामीण क्षेत्र के नागरिको को मकान निर्माण के लिए
आर्थिक सहायता प्रदान करना
योजना से जुड़े लाभार्थीझारखण्ड राज्य के नागरिक
वर्ष2021
राज्यझारखण्ड
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लांच की जाएगी

झारखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा आरंभ की गई Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का मुख्य उद्देश्य राज्य के ग्रामीण इलाको में रहने वाले सभी परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है, जिनके मकान प्राकृतिक आपदा के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गए थे।

साथ ही उन महिलाओ को भी मकान निर्माण के लिए आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी जिनके पति की मृत्यु हो चुकी है, या जो आवास विहीन है। इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सहायता राशि को लाभार्थी के बैंक खातों में किस्तों के माध्यम से ट्रांसफर किया जाएगा। देखा जाए तो इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के नागरिको के जीवन स्तर में काफी बदलाव आएगा साथ ही वह आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

योजना के अंतर्गत लाभार्थी को सहायता प्राप्त होने के पश्चात अगले 1 वर्ष में अपने आवास का निर्माण पूर्ण करना होगा। साथ ही झारखण्ड के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सभी उपायुक्त व उप-विकास आयुक्त को इस योजना को लागू करने के निर्देश प्रदान किए जा चुके हैं। सभी उपायुक्तों को अपने जिले में लाभार्थियों की पहचान करनी होंगी। व सभी लाभार्थियों की सूचि तैयार कर मुख्यालय भेजनी होगी। साथ ही उन सभी जिलों में आवास आवंटित किये जाएंगे जिनमे आवास आवंटन का लक्ष्य पूरा हो गया है। पूर्वी सिंहभूम के पोटका प्रखंड सभागार में इस योजना के अंतर्गत 35 लाख लाभुकों के बीच स्वीकृति पत्र वितरित किए गए हैं।

यह भी पढ़े:- झारखंड किसान कर्ज माफी लिस्ट

  • दीनदयाल उपाध्याय कुटीर ज्योति योजना/सौभाग्य योजना के अंतर्गत निशुल्क बिजली कनेक्शन
  • प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत निशुल्क गैस कनेक्शन
  • स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय निर्माण
  • झारखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का शुभारंभ किया गया है।
  • इस योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले उन सभी नागरिको को प्रदान किया जायेगा जिनके मकान प्राकृतिक आपदा की वजह से क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हो गए थे।
  • साथ ही इस योजना का लाभ विधवा महिला एवं आवास विहीन महिलाओं को भी प्रदान किया जाएगा।
  • मकान का निर्माण पूर्ण करने हेतु सरकार की और से 130000 रूपए की आर्थिक सहायता की जाएगी जो की तीन किस्तों में लाभार्थी के बैंक खातों में ट्रांसफर की जाएगी।
  • पहली क़िस्त में लाभार्थी को 40000 रूपए प्रदान किये जाएंगे। दूसरी क़िस्त में 85000 रूपए व तीसरी व आखरी क़िस्त में लाभार्थी को 5000 रूपए का भुगतान किया जाएगा।
  • इसके अलावा लाभार्थी को मनरेगा के अंतर्गत 95 दिनों का रोजगार भी प्रदान किया जाएगा।
  • झारखण्ड के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सभी उपायुक्त व उप-विकास आयुक्त को इस योजना को लागू करने के निर्देश प्रदान किए जा चुके हैं।
  • सभी उपायुक्तों को अपने जिले में लाभार्थियों की पहचान करनी होंगी। व सभी लाभार्थियों की सूचि तैयार कर मुख्यालय भेजनी होगी।
  • उन सभी जिलों में आवास आवंटित किये जाएंगे जिनमे आवास आवंटन का लक्ष्य पूरा हो गया है।
  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के नागरिको के जीवन स्तर में काफी बदलाव आएगा साथ ही वह आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

यह भी पढ़े:- क्या है सहाय योजना?

  • आवेदनकर्ता झारखंड राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता का मकान किसी प्राकृतिक आपदा के कारण क्षतिग्रस्त या ध्वस्त हुआ होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास अपना आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास आय प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास आयु का प्रमाण होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास राशन कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास मोबाइल नंबर होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास ईमेल आईडी होना चाहिए।
  • आवेदनकर्ता के पास पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ होना चाहिए।
  • राज्य के सभी जिलों के उपायुक्त द्वारा लाभार्थियों की पहचान की जाएगी।
  • लाभार्थियों की पहचान करने के पश्चात उनकी सूचि बनाई जाएगी।
  • लाभार्थियों की पहचान करने के पश्चात उनकी सूचि बनाई जाएगी।
  • जिसके पश्चात सभी लाभार्थियों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन करने के पश्चात लाभार्थियों को लाभ की राशि वितरित कर दी जाएगी।

Hi friends, we are a small team and we provide you with information related to government schemes and latest news. All the information we are collecting is from authentic sources. We hope you will like our content.