झारखण्ड विवाह पंजीकरण: झारखण्ड सरकार द्वारा किया गया मैरिज सर्टिफ़िकेट अनिवार्य, यहाँ करे आवेदन

झारखण्ड विवाह पंजीकरण | मैरिज सर्टिफिकेट झारखण्ड | jharkhand marriage registration | jharkhand marriage registration fee | झारखण्ड विवाह पंजीकरण ऑनलाइन प्रमाण पत्र

झारखण्ड विवाह पंजीकरण: हमें कई ऐसे दस्तावेजों की जरुरत होती है, जिनके द्वारा हम सकरारी योजनाओ का लाभ उठा सकते है। वा अपनी पहचान को साबित कर सकते है, ऐसे ही कई दस्तावेज है जिनमे हमारा जन्म प्रमाण पत्र, जाती प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, मृत्यु प्रमाण पत्र वा मैरिज सर्टिफ़िकेट शामिल होते है। यह सभी दस्तावेज काफी महत्वपूर्ण है जिनकी हमें कही न कही जरुरत पड़ती रहती है। इन्ही बातो को ध्यान में रखते हुए झारखण्ड राज्य सरकार के द्वारा मैरिज सर्टिफ़िकेट को अनिवार्य कर दिया गया है।

यदि आप भी झारखण्ड राज्य के नागरिक है, तो आपको इस योजना के बारे में जरूर जानना चाहिए हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से झारखण्ड विवाह पंजीकरण की छोटी से छोटी जानकारी को आपके साथ सांझा करेंगे। इस लेख में आप योजना में आवेदन प्रक्रिया, योजना के मुख्य उद्देश्य, योजना से होने वाले लाभ वा विशेषताएं, योजना में लगने वाले मुख्य दस्तावेजों के बारे में जानेंगे तो चलिए शुरू करते है।

झारखण्ड विवाह पंजीकरण क्या है?

झारखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा विवाह निबंधन नियमावली 2018 के अंतर्गत राज्य में रहने वाले नागरिको के लिए मैरिज सर्टिफिकेट को अनिवार्य कर दिया गया है। मैरिज सर्टिफिकेट पाने के लिए राज्य के नागरिक अब ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे जिसके बाद उन्हें मैरिज सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा। तथा क़ानूनी तौर पर विवाहित जोड़े की शादी को भी मान्य माना जाएगा।

मैरिज सर्टिफिकेट कई सरकारी कार्यो में भी महत्वपूर्ण दस्तावेज की भूमिका निभाता है, पहले मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने के लिए नागरिको को सरकारी कार्यलयो के चक्कर लगाने पड़ते थे। जिसमे नागरिको के पैसों वा समय की बर्बादी होती थी, वा कई नागरिक अपना मैरिज सर्टिफिकेट नहीं बनवाते थे। इन्ही समस्याओ को ध्यान में रखते हुए झारखण्ड सरकार के द्वारा मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया है, जिससे झारखण्ड के नागरिक अब मैरिज सर्टिफिकेट के लिए घर बैठे ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे।

Jharkhand Marriage Registration

योजना का नामझारखंड विवाह पंजीकरण
किनके द्वारा आरंभ की गईझारखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री
श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा
मुख्य उद्देश्यराज्य में रह रहे शादी शुदा जोड़ो को ऑनलाइन
मैरिज सर्टिफिकेट प्रदान करना
लाभार्थीझारखण्ड राज्य के नागरिक
साल2022
आवेदन शुल्क50 रुपए
मैरिज सर्टिफिकेट न होने पर जुर्माना5 रुपए प्रतिदिन
ऑफिसियल वेबसाइटjharsewa.jharkhand.gov.in

झारखण्ड विवाह पंजीकरण का मुख्य उद्देश्य

झारखण्ड राज्य सरकार के द्वारा झारखंड विवाह पंजीकरण को लागू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में रहने वाले विवाहित जोड़ो का ऑनलाइन मैरिज सर्टिफिकेट पंजीकरण करवाना है। योजना के माध्यम से झारखण्ड के रहवासियों को मैरिज सर्टिफिकेट के लिए पंजीयन करवाना अनिवार्य कर दिया गया है। अब नागरिको को अपना विवाह पंजीकरण करवाने हेतु किसी सरकारी कार्यलयो के चक्कर नहीं लगाने होंगे, बल्कि अब नागरिक घर बैठे ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आसानी से अपना पंजीकरण कर सकेंगे। जिसके द्वारा उनका कीमती समय वा पैसो की बचत होगी वा प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।

यह भी पढ़े:- Jharkhand Mukhyamantri Protsahan Yojana 2022

झारखण्ड विवाह पंजीकरण आवेदन शुल्क

मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने हेतु आवेदनकर्ता को शादी के 15 दिन पहले पंचायत सचिवालय में आवेदन करना होगा। जिसका आवेदन शुल्क 50 रुपए जमा करना होगा। यदि किसी को शादी से आपत्ति है, तो ऐसी स्थिति में उसको 7 दिन के भीतर आवेदन करना होगा। जिसका शुल्क 500 रूपए है, यह प्रक्रिया गांव में पंचायत सचिव तथा प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से की जाएगी। शादी प्रमाण पत्र पर अधिकृत पंचायत सचिव के हस्ताक्षर होने अनिवार्य है। पंचायत सचिव तथा प्रज्ञा केंद्रों को 28 जनवरी 2021 को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। यदि आप चाहे तो खुद भी अपना विवाह पंजीकरण आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर कर सकते है।

झारखण्ड विवाह पंजीकरण जुर्माना

मैरिज सर्टिफिकेट न बनवाने की स्थिति में सरकार के द्वारा नागरिको पर जुर्माना भी लगाया जाएगा। जिसकी राशि प्रतिदिन 5 रुपए रखी गई है, यह राशि अधिकतम 100 रुपए होगी। यदि नागरिको को जुर्माने से बचना है, तो विवाह के 1 साल के अंदर अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवा ले। जिसका शुल्क मात्र 50 रुपए है।

यह योजना राज्य में रह रहे हर नागरिक पर लागू की गई है चाहे वह किसी भी धर्म से जुड़ा हो मैरिज सर्टिफिकेट शहरी क्षेत्र के नागरिक नगर निगम, नगर परिषद, नगर पालिका एवं अधिसूचना क्षेत्र समिति के जन्म मृत्यु पंजीकरण करने वाले अधिकारियों से भी बनवाया जा सकता है। ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक जन्म मृत्यु पंजीकरण करने वाले पदाधिकारियों से भी यह प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। इसके अलावा छावनी परिषद द्वारा एवं प्रज्ञा केंद्र द्वारा भी विवाह पंजीकरण करवाया जा सकता है।

झारखण्ड विवाह पंजीकरण जुर्माना के लाभ

  • झारखंड राज्य सरकार के द्वारा राज्य में रह रहे नागरिकों के लिए मैरिज सर्टिफिकेट को शादी के 1 साल के अंदर बनवाना अनिवार्य कर दिया गया है जिससे राज्य में रह रहे सभी विवाहित नागरिकों के मैरिज सर्टिफिकेट बना दिए जाएंगे।
  • मैरिज सर्टिफिकेट एक तरह का आवश्यक दस्तावेज है जिसका उपयोग सरकारी दस्तावेज के रूप में किया जा सकेगा।
  • राज्य के नागरिक अब अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कर सकेंगे जिससे उनका समय वा पैसा दोनों बचेगा।
  • पंजीकरण करने के पश्चात नागरिक अपना मैरिज सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकेंगे।
  • पंजीकरण के पश्चात ही विवाहित जोड़े की शादी को कानूनी रूप से मान्यता प्राप्त होगी।

यह भी पढ़े:- झारखंड जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन चेक

Jharkhand Marriage Registration की पात्रता

  • विवाहित जोड़ा बालिग होना अनिवार्य है जिसमे वर की आयु 21 वर्ष वा वधु की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होना चाहिए।
  • वर वा वधु में से कोई भी मानसिक असंतुलक का शिकार नहीं होना चाहिए।
  • वर वा वधु में से कोई भी एक झारखण्ड राज्य का निवासी होना अनिवार्य है।

झारखण्ड विवाह पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • वर का आधार कार्ड
  • वधु का आधार कार्ड
  • वर का आयु प्रमाण पत्र
  • वधु का आयु प्रमाण पत्र
  • वर का निवास प्रमाण पत्र
  • वधु का निवास प्रमाण पत्र
  • वर वा वधु का साथ में फोटो
  • वर का पासपोर्ट साइज फोटो
  • वधु का पासपोर्ट साइज फोटो
  • वर का डिजिटल हस्ताक्षर
  • वधु का डिजिटल हस्ताक्षर
  • तीन गवाहों के पासपोर्ट साइज फोटो
  • तीनो गवाहों के डिजिटल हस्ताक्षर

झारखण्ड विवाह पंजीकरण योजना में पंजीकरण करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को झरसेवा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर आपको Register Yourself का विकल्प दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जिसमे आपको आपका पूरा नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, पासवर्ड, राज्य वा कैप्चा कोड दर्ज करने के पश्चात सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट के विकल्प पर क्लिक करते ही आपका पंजीकरण पूर्ण हो जाएगा।
  • अब आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • यहाँ आपको अपनी लॉगिन आईडी, पॉसवर्ड वा कैप्चा कोड को दर्ज करना होगा वा लॉगिन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको मैरिज सर्टिफिकेट रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फार्म खुल कर आएगा।
  • फार्म में पूँछी गई सभी जानकारी को आपको दर्ज करना होगा।
  • जानकारी दर्ज करने के पश्चात आपको आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • अब आपको आवेदन शुल्क का ऑनलाइन भुगतान करना होगा।
  • भुगतान करने के पश्चात आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • लीजिए हो गया आपका योजना में पंजीकरण।

यह भी पढ़े:- क्या है सहाय योजना?

पंजीकरण के पश्चात की प्रक्रिया

  • ऑनलाइन फॉर्म सबमिट करने के पश्चात आपको एक रेफरेंस नंबर प्राप्त होगा।
  • यही रेफरेंस नंबर आपकी एक्नॉलेजमेंट स्लिप पर भी होगा।
  • अब आपको अपनी एक्नॉलेजमेंट स्लिप वा आवेदन पत्र का प्रिंट आउट निकलना होगा वा अपने पास रखना होगा।
  • साथ ही अपलोड किये गए दस्तावेजो की कॉपी को भी आपको प्रिंट आउट निकलवा कर अपने पास रखना होगी।
  • भौतिक सत्यापन के दौरान आपको इन सभी दस्तावेजों की कॉपी की आवश्यकता होगी।
  • आवेदन करने के 15 दिन के पश्चात आपको संबंधित कार्यालय में बुलाया जाएगा जहा आपका सत्यापन होगा।
  • सत्यापन प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात आपको आपका मैरिज सर्टिफिकेट प्रदान कर दिया जाएगा।

पोर्टल पर लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को झरसेवा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर आपको Login का विकल्प दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा जहा आपको अपना लॉगिन आईडी, पासवर्ड वा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अब आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप पोर्टल पर लॉगिन कर पाएंगे।

Leave a Comment