SBI Fix Deposit: जानिए एसबीआई फिक्स डिपाजिट खातों की विशेषताएँ

SBI Fix Deposit: भारतीय स्टेट बैंक जो की एक सरकारी बैंक है, अपने ग्राहकों के लिए समय-समय पर विभिन्न प्रकार के निवेश उत्पादों का प्रस्ताव रखता है। उन्हें में टर्म डिपॉजिट या फिक्स्ड डिपॉजिट मुख्य उत्पादों में से एक है। जिसमे ऋणदाता  आपको उस समय के लिए भारतीय स्टेट बैंक में फिक्स डिपोसिट अकाउंट खोलने का विकल्प प्रदान करता है।

जो की 7 दिनों से लेकर 10 वर्षो के बीच होती है। इस तरह के खातों पर एसबीआई बैंक के द्वारा दी जाने वाली ब्याज राशि 2.90% से लेकर 5.40% प्रतिवर्ष तक जनता के लिए होती है। साथ ही वरिष्ठ नागरिको (Senior Citizens) को एसबीआई बैंक के द्वारा सभी कार्यकालों पर 0.50% की अतिरिक्त ब्याज की पेशकश की जाती है।

एसबीआई फिक्स डिपाजिट के टाइप

SBI Fix Deposit
SBI Fix Deposit

एसबीआई फिक्स डिपाजिट 4 टाइप के होते है जो की निन्मनुसार है।

  • भारतीय स्टेट बैंक टेक्स सेविंग स्कीम, 2006
  • एसबीआई टर्म डिपोसिट
  • पुननिर्वेश योजना
  • एसबीआई मल्टी ऑप्शन डिपॉज़िट स्कीम

यह भी जाने: SBI Two Wheeler Loan की सम्पूर्ण जानकारी

SBI टेक्स सेविंग स्कीम, 2006 की विशेषताएं

SBI टेक्स सेविंग स्कीम, 2006 के अंतर्गत डिपॉज़िट रेंज मिनिमम 1,000 हजार रूपए रखी गई है, वही इसमें अधिकतम डिपॉजिट रेंज 50,000 हजार रुपये रखी गई है। इसके अलावा इस योजना की परिपक्वता अवधि 5 साल से 10 साल है। जिसमे निवेशको को हर साल 5.40% प्रतिशत की ब्याज दर दी जाती है। साथ ही इस योजना के अंतर्गत खाताधारक आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 सी के तहत निवेशक सूचीबद्ध करो के लाभों का हक़दार होता है। इसके अलावा इस स्कीम में एसबीआई स्टाफ और वरिष्ठ नागरिको (Senior Citizens) को रिटर्न की डरो की पेशकश की जाती है। जो की लागू डरो से 1% अधिक होती है।

एसबीआई टर्म डिपोसिट स्कीम की विशेषताएं

एसबीआई टर्म डिपोसिट स्कीम के अंतर्गत निवेशक मिनिमम 1,000 हजार रूपए जमा कर सकता है, इसके अलावा इसकी अधिकतम डिपॉजिट रेंज की कोई सीमा नहीं रखी गई है। इस योजना में निवेशक को कम से कम 2.90% प्रतिशत का ब्याज मिलता है वा अधिकतम ब्याज 5.40% ब्याज मिलता है। ब्याज मासिक, त्रेमासिक या वार्षिक आधार पर किया जाता है। इस योजना की परिपक्वता अवधि 7 दिन से 10 वर्ष तक है। साथ ही समय से पहले निकासी की अनुमति भी मिलती है। इसके अलावा खाताधारक 90% तक जमा ऋण वा ओवरड्राफ्ट का लाभ उठा सकता है। जिसमे ओवरड्राफ्ट की सीमा 25,000 हजार से 5 करोड़ तक रखी गई है।

यह भी जाने: SBI E-Mudra Loan Apply

पुननिर्वेश योजना की विशेषताएं

  • मूल राशि में ब्याज की आय को लगातार जोड़ा जाता है।
  • ब्याज आय परिपक्वता होने पर केवल आपके कहते में जमा की जाती है।
  • न्यूनतम राशि आप 1000 हजार रूपए कर सकते है, वही अधिकतम राशि जमा करने की कोई सीमा नहीं रखी गई है।
  • योजना के अंतर्गत परिपक्वता अवधि 6 महीने से 10 वर्ष की है।
  • इसमें नामांकन की सुविधा उपलब्ध है।
  • उपलब्ध मूल जमा का 90% तक ओवरड्राफ्ट।
  • उपलब्ध जमा के खिलाफ ऋण।
  • समय से पहले पहले बंद करने की सुविधा।
  • धारण करने की विधि एकल या संयुक्त रूप से।

एसबीआई मल्टी ऑप्शन डिपॉज़िट स्कीम की विशेषताएं

  • निवेश की न्यूनतम सीमा 10,000 हजार रुपये रखी है वही अधिकतम सीमा की कोई सीमा नहीं है।
  • परिपवक्ता सीमा 5 वर्ष से 10 वर्ष तक की है।
  • निवेशक अपने एफडी फण्ड को आसानी से प्राप्त करके अपने लिंक किये कहते में ट्रांसफर कर सकता है।
  • योजना पर कटौती (TDS) लागू है।
  • इसमें नामांकन की सुविधा उपलब्ध है।
  • इसमें 1000 रुपये से कम नहीं निकाले जा सकते है।
  • इसमें ऋण की सुविधा उपलब्ध है।
  • समय से पहले निकासी की अनुमति भी है।

अगर आप ऐसी ही और योजनाओ के बारे में जानना चाहते हैं तो पूरिजनकारी को बुकमार्क करना न भूले।

Leave a Comment