उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना 2020: PLI Yojana Apply, Benefits & More

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना क्या हैं? | उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना आवेदन फॉर्म  | PLI Yojana Apply Online |  PLI Yojana In Hindi | PLI Full Form | PLI Yojana Benefits & More | Utpadan Adharit Protsahan Yojana | Production Linked Incentive Scheme UPSC

जैसा की हम सब जानते ही हैं की कोरोना के बाद से भारत सरकार आत्मनिर्भर भारत पर बहुत ज्यादा जोर दे रही हैं जो की बहुत जरुरी भी हैं। और जिसका असर हमे दिख भी रहा हैं। भारत हर एक क्षेत्र में आत्मनिर्भर की और बड़ रहा हैं। भारत सरकार पहले भी भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मेक इन इंडिया लांच कर चुकी हैं। ताकि भारत उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बने। इसी लिए भारत सरकार समय-समय पर अलग-अलग सेक्टर्स के लिए योजनाए लागू कर रही हैं।

PLI Yojana

उसी तरह केंद्र सरकार ने उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना (Production Linked Incentive) को लांच किया हैं। इस योजना के काई सारे फायदे हैं। आज हम इस लेख के माध्यम से PLI Yojana 2020 (उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना) से जुडी सारी जानकारिया आपके साथ साझा करेंगे ताकि आप भी इस योजना के बारे में जान पाए एवं इसका फायदा उठा पाए।

PLI Yojana (उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना)

योजना का नामUtpadan Adharit Protsahan Yojana
किस ने लांच कीकेंद्र सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यघरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देना
आधिकारिक वेबसाइटअभी लॉन्च नहीं की हैं
योजना की घोषणा करने की तिथि11 नवंबर 2020
बजट2 लाख करोड़

PLI का फुल फॉर्म Production Linked Incentive हैं। इस योजना की घोषणा भारत सरकार ने 11 नवंबर 2020 को की हैं। जिसका मुख्या लक्ष्य  घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देना एवं भारत को आत्मनिर्भर बनाना हैं। PLI Yojana के अंतर्गत आने वाले 5 सालो में भारत के 10 प्रमुख सेक्टर्स के अंदर दो लाख करोड़ रुपए खर्च किये जायेगे।

PLI Yojana 2020 बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगी। जिससे घरेलू मैन्युफैक्चरिंग में बढ़ोतरी होगी एवं हम भारत में बनी वस्तुए खरीदेंगे जिससे आयत भी कम होगा। इसके साथ भी हम यहाँ से निर्यात भी कर पाएंगे। इकॉनमी को बेहतर करने का यह एक बहुत ही अच्छा विकल्प हैं।

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के कारण इन 10 सेक्टर्स में मैन्युफैक्चरिंग का काम बढ़ेगा जिससे अलग-अलग स्तर पर रोजगार भी बढ़ेगा जिससे कोरोना की वजह से जो बेरोजगारी बड़ी हैं। उसमे भी गिरावट आएगी। PLI Scheme के अंतर्गत भारत सरकार 1,45,980 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

Advertisement

इसके साथ ही इस योजना के अंतर्गत सरकार 25 फ़ीसदी कॉरपोरेट टैक्स रेट में भी छूट देगी। इस योजना का कई लाभ हमे आने वाले दिनों में देखने को मिलेंगे और भारत सरकार का आत्मनिर्भर भारत अभियान को भी PLI Yojana 2020 में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़े: Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना का मुख्या उददेश्य क्या हैं?

PLI Yojana (Production Linked Incentive Scheme) का मुख्या उददेश्य भरत को आत्मनिर्भर बनाना हैं। इस योजना के कारण घरेलु मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा मिलेगा और इससे आयत में कमी आएगी। इसके साथ ही हम भी अपना सामान जयदा मात्रा में विदेशो में निर्यात कर पाएंगे। Utpadan Adharit Protsahan Yojana के कारण देश के अंदर रोजगार के अवसर भी बढ़ेगी एवं बेरोजगारी कम होगी।

अभी सरकार ने इसके लिए 10 सेक्टर्स जो की मैन्युफैक्चरिंग के अंदर आते हैं। उन्हें आर्थिक रूप से सहायता करेगी। Production Based Incentive Scheme 2020 के अंतर्गत सरकार ने अभी कुल 10 सेक्टर्स को चुना हैं जो कुछ इस प्रकार हैं-

PLI Yojana 2020 के अंतर्गत प्रत्येक क्षेत्र का बजट

SectorsBudget
इलेक्ट्रॉनिक एंड टेक्नोलॉजी प्रोडक्ट्स
(Electronics And Technology Products)
5000 करोड़ रुपये
ऑटोमोबाइल और ऑटो कॉम्पोनेंट्स
(Automobiles And Auto Components)
57,042 करोड़ रुपये
फार्मास्यूटिकल ड्रग्स
(Pharmaceuticals And Drugs)
15000 करोड़ रुपये
टेलीकॉम एंड नेटवर्किंग प्रोडक्ट
(Telecom And Networking Products)
12,195 करोड़ रुपये
टेक्सटाइल उत्पादन
(Textiles Products)
10,683 करोड़ रुपये
फूड प्रोडक्ट्स
(Food Products)
10,900 करोड़ रुपये
व्हाइट गुड्स
(Whites Goods)
6,238 करोड़ रुपये
स्पेशलिटी स्टील
(Speciality Steel)
6,322 करोड़ रुपये
एडवांस केमिकल सेल बैटरी
(Advance Chemistry Cell (ACC) Battery)
18,100 करोड़ रुपये
सोलर पीवी माड्यूल
(High-Efficiency Solar PV Modules)
4500 करोड़ रुपये

अगर आप इस बजट को और जयदा डिटेल में जानना चाहते हैं तो आप इस पीडीऍफ़ के मध्य से जान सकते हैं।

Utpadan Adharit Protsahan Yojana के मुख्य अंश जो आपको जानना जरुरी हैं।

PLI Yojana 2020 के कई सारे मुख्या अंश हैं। तो चलिए एक-एक कर सभी को जानते हैं।

  • इस योजना का पूरा नाम उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना हैं जो केंद्र सरकार ने 11 नवंबर 2020 को लागू की हैं।
  • इसके अंतर्गत घरेलु मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा मिलेगा जिससे भारत की आर्थिक स्थति में सुधार आएगा।
  • PLI Yojana के कारण रोजगार मिलेगा जिससे बेरोजगारी में गिरावट आएगी।
  • इसके अंतर्गत अभी 10 सेक्टर्स को चुना गया हैं।
  • इस योजना के कारण हम विदेशो से कम आयत करेंगे और साथ ही हम यहाँ से विदेशो में निर्यात करेंगे।
  • PLI Yojana आत्मनिर्भर भारत मिशन को बढ़ावा देगी।
  • Utpadan Adharit Protsahan Yojana के अंतर्गत 25 फ़ीसदी कॉरपोरेट टैक्स रेट में भी कटौती होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार इन 10 सेक्टर्स को आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। ताकि ज्यादा से ज्यादा उत्पादन बड़ पाए और भारत आत्मनिर्भर बन सके।

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना (PLI Yojana) के अंतर्गत आवेदन कैसे करे?

अगर आप PLI Yojana के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन देना चाहते हैं तो हम आपको बता दे की अभी तक इसके लिए कोई ऑफिसियल वेबसाइट लांच नहीं की हैं। जैसे ही केंद्र सरकार उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना में आवेदन करने के लिए कोई ऑफिसियल वेबसाइट लांच करती हैं तो हम आपको पूरिजनकारी पर सूचित कर देंगे। तो बने रहिये हमारे साथ और ऐसी ही अन्य जानकारिया आसान भाषा में प्राप्त कीजिये।

FAQs

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना क्या हैं?

इस योजना की घोषणा केंद्र सरकार द्वारा 11 नवंबर 2020 को की गयी हैं। जिसके अंतर्गत केंद्र सरकार 10 सेक्टर्स को अगले 5 सालो तक आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। ताकि घरेलु विनिर्माण ज्यादा हो और भारत आत्मनिर्भर बन सके। इसके लिए सरकार ने उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत अलग-अलग 10 सेक्टर्स के लिए बजट जारी किया हैं।

PLI का Full Form क्या हैं?

PLI का Full Form Production Linked Incentive हैं।

PLI Yojana किसके द्वारा लांच की गयी हैं?

यह योजना केंद्र सरकार द्वारा जारी की गयी हैं।

उत्पादन आधारित प्रोत्साहन योजना कितने सालो तक के लिए जारी की गयी हैं?

इस योजना को 5 सालो तक के लिए जारी किया गया हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!